दरंग जिले में राष्ट्रीय नागरिकों पंजी(एनआरसी) के पूर्णांग ड्राफ्ट में करीब तीन लाख लोगों के नाम नहीं आए। राज्य के अन्य भागों की तरह दरंग जिले में भी उच्चतम न्यायालय के निर्देशानुसार दावा, आपत्ति और संशोधन प्रपत्र जमा किया जा रहा है, जिससे जिन लोगों के नाम एनआरसी के पूर्णांग ड्राफ्ट में नहीं आए हैं उनके नाम एनआरसी में आ सकें।




इसी क्रम में जिले के दलगांव राजस्व चक्र कार्यालय के दलगांव पंचायत, बिहूदिया गांव पंचायत, खारूपेटिया सामुदायिक भवन, बाहाबारी गांव पंचायत, फकीरपारा गांव पंचायत और आरिमारी गांव पंचायत आदि एनआरसी सेवा केंद्र में अभी भी भारी भीड़ उमड़ रही है। इन सेवा केंद्रो में सुबह 8 बजे से दो-दो हजार महिला-पुरूष कतार में अपनी बारी का इंतजार करते हैं, लेकिन मुश्किल से दो सौ लोग ही अपना प्रपत्र जमा कर पाते हैं।



इसी क्रम में खारूपेटिया के नजदीक बाहाबारी स्थित 12 नंबर एनआरसी सेवा केंद्र में लोगों का कहना था कि एनआरसी का प्रपत्र जमा करने के लिए मात्र पांच दिन बाकी हैं और अभी भी हजारों की संख्या में लोगों का प्ररत्र जमा होना बाकी है। दैनिक करीब दो हजार महिला- पुरूष अपना प्रपत्र जमा देने  इस केंद्र में आते हैं। लेकिन इनलोगों में मात्र दो सौ लोग ही अपना प्रपत्र जमा दे पाते हैं।

साथ ही कहा कि एनअारसी सेवा केंद्र के अधिकारी-कर्मचारियों को सुबह 10 बजे सेवा केंद्र पर आना चाहिए, लेकिन 11 बजे तक कोई नही आता है, जिसके कारण लोगों को परेशनियों का सामना करना पड़ता है। इधर बिहूदिया गांव पंचायत एनआरसी सेवा केंद्र भी चर्चा के केंद्र में है और इसका कारण है सेवा केंद्र के अधिकारियों का कथित उदासीन रवैया। लंबी-लंबी कतार होने के बावजूद अधिकारी अपनी बाबुगिरी को नहीं छोड़ते, जिसके चलते दोनों पक्षों में बीच-बीच में तकरार होती  रहती है।

उल्लेखनीय है कि प्रपत्र जमा देने के मात्र पांच दिन बाकी हैं और अभी भी करीब एक लाख लोगों का प्रपत्र जमा होना बाकी है और अगर एनआरसी सेवा केंद्रों में कर्मचारियों की संख्या बढ़ाई नहीं गई तो बहुत से लोगों को मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है।