पतंजलि योगपीठ ने दावा किया है कि उन्होंने कोरोना वायरस की दवा बना ली है। यह दवा आयुर्वेदिक है, जिससे उन्होंने कई मरीजों को ठीक करने का दावा भी किया है। आचार्य बालकृष्ण ने कहा कि पतंजलि ने कोरोना की दवा बनाई है। ठीक हुए सैंकड़ों मरीजों का डेटा रखा गया है। उन्होंने बताया कि दवा का क्लिनिकल कंट्रोल ट्रायल का रिजल्ट भी आनेवाला है। आचार्य बालकृष्ण ने कहा कि दवा लेनेवाले 80 प्रतिशत लोग ठीक हो गए।

पतंजलि ने यह दावा ऐसे वक्त में किया है जब देश कोरोना की चपेट में है। शुक्रवार को देश में पहली बार चौबीस घंटों में कोविड-19 संक्रमण के नये मामले 10,000 के पार पहुंच गए। अबतक संक्रमण के कुल मामले 2,97,535 हो गए हैं जबकि एक दिन में कुल संक्रमित लोगों में से सबसे अधिक 396 संक्रमित लोगों की मौत के साथ मृतक संख्या 8,498 हो गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक शुक्रवार सुबह आठ बजे तक पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस संक्रमण के 10,956 नये मामले सामने आए।

वर्ल्डोमीटर के मुताबिक कोरोना वायरस के मामलों के लिहाज से भारत ब्रिटेन को पीछे छोड़ दुनिया का चौथा सबसे अधिक प्रभावित देश बन गया। हालांकि लगातार दूसरे दिन स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या अब भी संक्रमित लोगों की तुलना में अधिक रही। मंत्रालय ने बताया कि अब भी 1,41,842 लोग संक्रमण की चपेट में हैं जबकि 1,47,194 लोग स्वस्थ हुए हैं और एक मरीज विदेश चला गया है।