नगांव में सरेआम चोरी होना आजकल आमबात हो गई है। शहर में बढ़ती चोरी की घटनाओं से लोगों में दहशत व्याप्त है। ऐसी ही एक घटना पांच मार्च को सामने आई है, जिसमें चोरों का दल शहर के हैबरगांव थाने से महज तीन सौ मीटर दूर शनिमंदिर पट्टी स्थित एक ट्रांसपोर्ट कंपनी के गोदाम में रात को धावा बोला और हाथों में तेज धारदार हथियार लिए अपने साथ लाए बड़े ट्रक में बड़ी आसानी से लाखों का माल पलक झपकते डालकर ले गया।
ट्रांसपोर्ट मालिक कुलदीप वर्मा की तरफ से दूसरे दिन स्थानिय थाने में एक प्राथमिकी दर्ज कराई गई और पुलिस प्राथमिकी के आधार पर एक मामला संख्या 570/19 दर्ज करते हुए जांच में जुट गई और इस कर्रवाही में पुलिस द्वारा शहर के समीप चोरों के एक दल को पकड़ भी लिया गया। लेकिन चोरी हुए लाखों के माल का पुलिस द्वारा महीना बीता जाने के बाद भी पता नहीं लगाना आश्चर्य का विषय बना हुआ है।

भुक्तभोगी मालिक वर्मा थाने के रोज चक्कर पर चक्कर लगाने के बाद भी पुलिस उनको सांत्वना देने की बजाय उल्टा यह कहते हुए टाल देती है कि हमारे पास अभी समय नहीं है। भुक्तभोगी मालिक ने आखिरकार थक-हारकर थाने जाना ही बंद कर दिया और अपनी आपबीती संवाद माध्यम को बताई। आरोप है कि मामले को संभाल रहे पुलिस अधिकारी के ढुलमुल रवैए के चलते आरोपियों के हौसले और मजबूत हो रहे हैं।

चोरों का पकड़ा जाना और माल की कोई भी सूचना एवं बरामदगी चोरों से पुलिस द्वारा की गई पूछतााछ में सामने नहीं आना एक सवाल खड़ा करता है।  इससे पहले भी इसी तरह की चोरी शहर के लाउखोवा रोड स्थित एक गोदाम में हुई थी, जिसमें चोरों के एक दल ने अनाज के लाखों के बोरों को ट्क में भरकर बड़े आराम से चोरी की वारदात को अंजाम देकर चला गया। इस घटना में सीसीटीवी फुटेज सामने आने के बाद भी लाहे-लाहे की पुलिसिया कार्रवाई से जनता में रोष व्यप्त है।