पूर्व भारतीय बल्लेबाज गौतम गंभीर (Former Indian batsman Gautam Gambhir) ने कहा है कि आईसीसी टी20 विश्व कप (ICC T20 World Cup) के लिए भारत के प्लेइंग इलेवन (Playing 11) में शामिल होने के लिए हरफनमौला हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) को अभ्यास मैचों में शत प्रतिशत गेंदबाजी करनी होगी।

हाल ही में समाप्त हुए इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2021) के दौरान, पांड्या (Pandya) ने पूरे सीजन में गेंदबाजी नहीं की और मुंबई इंडियंस के लिए 113.39 के स्ट्राइक रेट से सिर्फ 127 रन बनाने में सफल रहे।

इस पर, क्रिकेटर से नेता बने गंभीर (Gambhir) ने कहा कि आकर्षक लीग में बल्ले से पंड्या की खराब फॉर्म का मतलब है कि अगर वह गेंदबाजी नहीं कर रहे हैं तो उन्हें भारतीय टीम (Indian team) में जगह नहीं मिल सकती है। स्टार स्पोट्र्स पर गंभीर ने कहा, 'मेरे लिए हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) भारत की प्लेइंग इलेवन में तभी आते हैं, जब वह नेट्स में ही नहीं, दोनों वॉर्मअप गेम्स में उचित गेंदबाजी करते हैं।'

उन्होंने कहा कि नेट्स में गेंदबाजी करने और बाबर आजम जैसे बेहतरीन बल्लेबाजों के खिलाफ और वह भी विश्व कप में, बहुत बड़ा अंतर है। उन्होंने कहा, 'उसे अभ्यास मैचों और नेट्स में गेंदबाजी करनी है और उसे 100 प्रतिशत गेंदबाजी करनी है। अगर आप सोच रहे हैं कि आप 115-120 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी करेंगे, तो टीम यह जोखिम नहीं लेगा।'