समुद्र में गए एक मछुआरे के साथ अचानक से कुछ ऐसा हुआ कि उसकी किस्मत पलट गई और एक ही झटके में लखपति बन गया। यह मछुआरा  पाकिस्‍तान का है। इसके हाथ ग्‍वादर के जेवानी तट पर अरब सागर में एक दुर्लभ मछली हाथ लगी है। 48 किलोग्राम वजनी इस मछली की कीमत 72 लाख रुपये है। यह मछली बेहद दुर्लभ कहे जाने वाले क्रोआकेर प्रजाति की है।

लाखों रुपये की इस मछली पकड़ने वाली नौका के मालिक साजिद हाजी अबाबकर ने बताया कि जब इस मछली को पकड़ा गया तो उस समय नौका की कप्‍तानी पिश्‍कान के रहने वाले वाहिद बलोच कर रहे थे। उधर, ग्‍वादर के मत्‍स्‍य पालन मामलों के उप निदेशक अहमद नदीम ने इस बात की पुष्टि की कि उन्‍होंने इससे ज्‍यादा महंगी मछली पहले कभी नहीं देखी थी।

करीब 48 किलोग्राम वजनी यह मछली 72 लाख रुपये में बिकी है। अबाबकर ने बताया कि मछली की नीलामी के दौरान एक बार तो उसकी कीमत 86 लाख रुपये तक पहुंच गई थी। उन्‍होंने कहा, 'हम अपने ग्राहकों को छूट देते रहे हैं और इसी परंपरा का पालन करते हुए हमने मछली की कीमत 72 लाख रुपये तय की है। पाकिस्‍तान मरीन बॉयालॉजिस्‍ट अब्‍दुल रहीम बलोच ने कहा कि विशाल क्रोकर मछली की मांग चीन और यूरोप में बहुत ज्‍यादा है।

बलोच ने कहा, 'यह दुर्लभ मछली अपने मांस के कारण बेशकीमती है। इस मछली के हिस्‍सों का इस्‍तेमाल दवा और सर्जरी के लिए किया जाता है।' इससे पहले कुछ समय पहले ही अब्‍दुल हक नामक मछुआरे ने एक क्रोआकर मछली पकड़ी थी। यह मछली सात लाख 80 हजार पाकिस्‍तानी रुपये में बिकी थी। इस मछली के मिलने से मछुआरा समुदाय में खुशी का माहौल है।