दुनिया भर में कोरोना से बचाव के लिए बड़े स्तर पर टीकाकरण किया जा रहा है। देशभर में  टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है। हर उम्र के लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाई जा रही है ताकी कोरोना बीमारी से लड़ने की ताकत हासिल कि जा सकें। रूस, अमेरिका, भारत जैसे कई देशों ने अपनी स्वदेशी वैक्सीन तैयार की है और ट्रायल कर लोगों को वैक्सीन लगवाने की अपील कर रहे हैं। इसी बीच पाकिस्तान ने भी अपनी खुद की स्वदेशी कोरोना वैक्सीन तैयार की है।


पाकिस्तान की वैक्सीन का नाम ‘PakVac’  है। हैरानी की बात यह है कि पाकिस्ता‍न ने कोरोना वैक्सीन को लॉन्च‘ तो कर दिया है, लेकिन उसने यह नहीं बताया है कि वैक्सीन कितनी प्रभावी है? कितने लोगों पर इसका ट्रायल हुआ? ट्रायल के नतीजे क्या  रहे?। पाकिस्तान की सरकार ने इसका ब्यौरा नहीं दिया है और ट्रायल की जानकारी छिपा रखी है। बता दें कि पाकिस्तान के नेशनल कमांड एंड ऑपरेशन सेंटर प्रमुख असद उमर ने इस वैक्सीन को लॉन्च किया है।


असद उमर ने दावे के साथ कहा कि “ पाकिस्तान में बनाई गई यह वैक्सीान सख्त ट्रायल, गुणवत्ता और जांच से गुजरी है ”। उन्होंने यह भी कहा कि “इस महामारी के दौर में चीन पाकिस्तान के दोस्त के रूप में सामने आया है। उमर ने वैक्सीन बनाने के लिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थाान की भी प्रशंसा की है ”। उन्होंने कहा कि इससे वैक्सीन की आपूर्ति में तेजी आएगी। पाकिस्तान सरकार जुलाई के अंतिम सप्ताह में होने वाले ईद उल-अज़हा (बकरीद) त्योहार के आसपास कोविड के खिलाफ टीकाकरण के अभियान में तेजी लाएगी।