इस्लामाबाद। पाकिस्तान में प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के देश से भागने की आशंका जताई जा रही है। शनिवार को जब शरीफ अचानक अस्पताल गए तभी से कयास लगाए जाने लगे कि यह इलाज के लिए विदेश जाने का बहाना है। 

नवाज शरीफ को अचानक पेट में दर्द हुआ। उन्हें गुलबर्ग के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। कम्प्यूटेड टोमोग्राफी की गई। आधे घंटे की जांच के बाद डॉक्टर ने लेफ्ट किडनी में पथरी होने की जानकारी दी। बताया कि उनका ये दर्द पथरी का था। इस वजह से उन्हें पेशाब करने में दिक्कत हो सकती है। पाकिस्तान के मीडिया ने इस खबर को लपक लिया और ये खबर दौड़ गई कि पाकिस्तान के पीएम पेशाब में दिक्कत होने का बहाना बनाकर देश छोडऩे की फिराक में है। 

कहा जा रहा है कि ये सारा खेल पनामा पेपर्स लीक स्कैंडल से बचने का है क्योंकि ये केस कोर्ट में है और सुनवाई पूरी हो चुकी है। सिर्फ फैसला आना बाकी है। इस केस में नवाज शरीफ का परिवार आरोपी है। अगर फैसला उनके पक्ष में नहीं आया तो कुर्सी तो जाएगी ही,कहीं जेल ने जाना पड़ जाए। इससे पहले भी नवाज शरीफ इलाज के लिए विदेश जा चुके हैं। जब पनामा केस की सुनवाई चल रही थी तब वे लंदन में थे। वहां हार्ट सर्जरी हुई। तब सुनवाई हुई तो पाकिस्तान लौट आए।

रविवार को नवाज शरीफ ने लाहौर के रायविंड पैलेस में अपनी शादी की 40 वीं सालगिरह मनाई। जो तस्वीरें सामने आई उनमें नवाज शरीफ के भाई शाहबाज शरीफ भी दिखे जो पंजाब प्रांत के मुख्यमंत्री हैं। 

कयास लगाए जा रहे हैं कि जब नवाज शरीफ लंदन जाएंगे तो उनकी गैर मौजूदगी में कार्यवाहक होंगे। दूसरा नाम जो चर्चा में है वो वित्त मंत्री इशाक दार का है। वे नवाज शरीफ के रिश्तेदार भी हैं। विश्लेषकों का 

कहना है कि पिछले सप्ताह आर्मी चीफ जनरल कमर जावेद बाजवा और पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ के अध्यक्ष इमरान खान के बीच हुई बैठक भी इस बारे में ही थी। 

पनामा पेपर्स लीक के जरिए खुलासा हुआ था कि नवाज शरीफ के दो बेटों हसन और हुसैन के अलावा उनकी बेटी मरियम ने विदेश में खाते खोले और कंपनियां बनाई,जिसमें 2.5 करोड़ रुपए का निवेश किया। कर चोरी का बड़ा मामला पनामा पेपर्स से सामने आया। पनामा पेपर्स लीक मामले में इसी महीने फैसला आने की उम्मीद है। नवाज शरीफ पर पाक सरकार के 1 हजार करोड़ रुपए के हेर फेर का भी आरोप है। शरीफ परिवार की कुल संपत्ति 4 हजार करोड़ रुपए है। बताया जाता है कि नवाज शरीफ ने गलत तरीके से ये संपत्ति बनाई। पाकिस्तान के कई बड़े शहरों में भी उनकी गैर कानूनी प्रॉपर्टी है।