कोरोना वायरस से मृतकों की संख्या में रोज बढ़ोतरी होती ही जा रही है। ताजा आंकड़ों के मुताबिक 192 देशों में अब तक 90 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। 15 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हैं, सूत्रों के मुताबिक तीन लाख 30 हजार से ज्यादा लोग ठीक हो चुके हैं। जैसे कि हम जानते है कि अमेरिका में स्थिति गंभीर होती जा रही है। यहां 15000 से अधिक लोगों की मौत हुई। पता चला है कि चीन में कोरोना ने फिर से दस्तक दी है।  अमेरिका में मरने वालों की संख्या 16000 से अधिक हो गई है।

गुटेरेस ने कहा कि कोविड19 एक स्वास्थ्य संकट में सबसे पहले और सबसे महत्वपूर्ण है, जब अधिकांश सरकारों का ध्यान महामारी की ओर है, ऐसे में आतंकवादियों का हमला करने का अवसर मिल सकता है। इससे पहले ये घटना घटे सरकारों को सावधान हो जाना चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि कोविड19 द्वारा उजागर की गई कमजोरियों और तैयारियों की कमी इस बात की और ध्यान दिलाती है कि बायोटेरोरिस्ट हमले कैसे हो सकते हैं और कितने जोखिमों उठाने पड़ सकते हैं।


अगर कोई भी राज्य समूह ऐसे विषैले उपभेदों से लड़ने में सक्षम नहीं हैं, ऐसे में यह दुनिया भर में तबाही मचा सकते हैं। गुटेरेस ने कहा कि दुनिया ने अपने सबसे गंभीरचुनौती का सामना किया है। हम सभी इसके झटके से उबरने करने के लिए संघर्ष कर रहे हैं, जो नौकरियां गायब हो गई हैं और जो व्यवसाय पीड़ित है। देश में संक्रमण से अभी तक 7,978 लोगों की मौत हुई है। खतरनाक बात तो ये है कि इटली में कोरोना वायरस के प्रकोप से सौ चिकित्सकों की मौत हो चुकी है।