इजरायल के मेडिकल रेजिडेंट्स ऑर्गनाइजेशन (Medical Residents Organization) (मिर्शम) ने कहा कि देश के स्वास्थ्य मंत्रालय के साथ 26 घंटे की शिफ्ट को लेकर विवाद के बीच 2,500 से अधिक इजरायली डॉक्टर्स (Israeli doctors) और इंटर्न ने इस्तीफा दे दिया है।

यह दावा करते हुए कि उन्हें 26 घंटे की थकाऊ शिफ्ट में बिना नींद के काम करने के लिए मजबूर किया गया था, निवासियों और इंटर्न ने अपने काम के तनाव को कम करने के लिए मंत्रालय की योजना को खारिज कर दिया। मंत्रालय द्वारा गुरुवार को पहले प्रकाशित योजना के अनुसार, सर्जिकल वार्डों को छोडकऱ, उत्तरी और दक्षिणी इजरायल के 10 अस्पतालों में शिफ्टों को कम करके 18 घंटे कर दिया जाएगा।

इस बीच, इन अस्पतालों में प्रति सप्ताह काम के घंटे 63 से अधिक नहीं होंगे और प्रति माह पारियों की संख्या छह से अधिक नहीं होगी। मंत्रालय ने कहा कि इस योजना का विस्तार 2026 के अंत तक इजरायल के सभी अस्पतालों में किया जाएगा। डॉक्टर्स और इंटर्न ने दावा किया कि यह योजना उनमें से कई के लिए लंबी शिफ्ट (Israeli doctors resign) को कम करने में मदद नहीं करेगी। मिर्शम के प्रमुख रे बिटन ने कहा, हम तब तक नहीं रुकेंगे जब तक हम शिफ्टों में वास्तविक कमी नहीं लाते, न कि ऐसी योजना जो इंटर्न को नीचा दिखाती है।