एक साल, 13 हजार से अधिक रेल हादसे और 12 हजार से अधिक रेल यात्रियों की मौत...। साल 2020 प्रतिदिन 32 लोगों ने रेल हादसों में अपनी जान गंवाई (train accidents in 2020) है। इनमें सबसे ज्यादा, 8400 लोगों की मौत ट्रेन से गिरने (train accidents) और रेलवे ट्रैक पार करने के चक्कर में हुई। राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) (NCRB) की वार्षिक रिपोर्ट 2020 के मुताबिक 2019 में 27,987 रेल हादसे हुए थे, जो 2020 में घटकर 13,018 हो गए। इन हादसों में 11986 रेल यात्रियों की मौत हुई और 11127 लोग घायल हुए।

रेल हादसों और मृतकों के मामले में महाराष्ट्र (train accident in maharashtra) (2697) देश में पहले और उत्तर प्रदेश (1560) (train accident in UP) दूसरे नंबर पर है। महाराष्ट्र में 1922 मौतें और यूपी में 1558 मौतें हुई हैं। वहीं रेलवे क्रॉसिंग पर ट्रेन की टक्कर में यूपी देश में पहले, बिहार दूसरे और मध्य प्रदेश train accident in MP) तीसरे स्थान पर है। अब बात हादसों के कारण की। इनमें सिग्नल मैन की गलती, मैकेनिकल त्रुटियां, ट्रैक का खराब मरम्मत, पुल-टनल का ढहना व अन्य कारण शामिल हैं। इन कारणों से 12440 रेल हादसे हुए हैं। इसमें 23 रेल दुर्घटनाएं लोको पायलट की गलती से हुईं। मैकेनिकल त्रुटि से 493 रेल हादसे हुए और इसमें 593 लोगों की मौत हुई।

2020 में हादसे

रेल हादसे- 13,018

यात्रियों की मौत- 11986

घायल- 11127