पृथ्वी पर करोड़ों साल पहले रहने वाले विशालकाय डायनासोर (Dinosaur) के बारे में चौंकाने वाली जानकारी सामने आई है। हाल ही लैटिन अमरीकी देश अर्जेंटीना में डायनासोर (dinosaurs in argentina) के 100 से ज्यादा अंडों (dinosaur eggs) को खोजा गया है। इन अंडों से डायनासोर के समूह में रहने के संकेत मिलते हैं। ये अंडे अर्जेंटीना में डायनासोर (dinosaurs in argentina) के एक कब्रिस्तान में पाए गए हैं। खास बात यह है कि इन अंडों में अभी भ्रूण बने हुए हैं।

जानकारी के अनुसार इन अंडों की स्कैनिंग (dinosaur eggs) से सामने आया कि ये सभी एक ही प्रजाति से संबंध रखते थे। मुसौरस पाटागोनीकस (Mussaurus Patagonicus Dinosaur) नामक इस प्रजाति के डायनासोर की गर्दन लंबी होती थी। उस दौर में रहने वाले ये डायनासोर शाकाहारी थे। वैज्ञानिकों का मानना है कि डायनासोर का यह घोंसला 19 करोड़ 30 लाख साल पुराना है और इसमें अभी 100 से ज्यादा अंडे मौजूद हैं। इन अंडों की मदद से अब जीवाश्म विज्ञानी डायनासोर (dinosaurs in argentina) की उस काल की प्रजातियों के बारे में जानकारी जुटा सकेंगे। गौरतलब है कि अर्जेंटीना में सबसे पहले 1970 के दशक में डायनासोर के कंकाल मिले थे।

मीडिया रिपोट्र्स के मुताबिक चिकन के आकार के ये अंडे 8 से 30 के समूह में मिले हैं जिससे कहा जा सकता है कि ये घोंसलों में रहते थे। ये घोंसले उनके बच्चे पैदा करने का साझा स्थल था। खोज के दौरान वैज्ञानिकों को डायनासोर के कंकाल (dinosaur skeleton) भी मिले हैं। इन सभी साक्ष्यों से यह पुख्ता होता है कि उस समय डायनासोर समूह में रहा करते थे। शोध करने वाले वैज्ञानिक डिआगो पोल के अनुसार वह उस स्थान पर डायनासोर के एक कंकाल की खोज में गए थे। लेकिन उन्हें वहां पर 80 कंकाल और 100 से ज्यादा अंडे मिल गए। इन अंडों में से कुछ के अंदर अभी भ्रूण बंद हंै। इससे पहले वैज्ञानिक यह मानते थे कि डायनासोर ने झुंड में रहना काफी बाद में जूरासिक काल में शुरू किया लेकिन अब इस साक्ष्य से यह साफ हो गया है कि वे पहले भी समूह में रहते थे।