स्थानीय होटल मैनेजमेंट संस्थान में केन्द्र सरकार के पर्यटन मंत्रालय

की एक भारत श्रेष्ठ भारत अभियान के तहत बुधवार को पूर्वोत्तर के राज्य

त्रिपुरा एवं मिजोरम फूड फेस्टिवल का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का

उद्देश्य संस्थान में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को देश के अलग-अलग हिस्सों व

राज्यों के होटल ट्रेंड को ध्यान में रखकर प्रशिक्षित करना था।


संस्थान

के प्राचार्य सीतेश श्रीवास्तव और विभागाध्यक्ष सुमित चटर्जी ने फूड

फेस्टिवल का उद्घाटन किया। सभी मेहमानों के स्वागत में चुआरक ड्रिक पेश

किया गया। इस मौके पर संस्थान के रेस्टोरेंट और कॉरिडोर को त्रिपुरा और

मिजोरम राज्य की कला और संस्कृति के अनुरूप सजाया गया था। फूड फेस्टिवल में

सभी खाद्य पदार्थ इन दोनों राज्यों के ही थे। छात्र-छात्राओं ने त्रिपुरा

और मिजोरम के पारंपरिक परिधान पहन रखे थे।


रेस्टोरेंट

के काउंटर पर सलामी, करमू सलाद, मजो बैन, बाए फैंग, आलूकन, गुडौक चखोई,

वाक सर्जक, टोकन, रोंगुपू टेकेन, वैपा बैन आदि डिस को सजाया गया था। अनुपम

कुमार, गौतम चौधरी, नीरज कुमार सहित कई व्याख्याताओं ने त्रिपुरा और मिजोरम

के स्वादिष्ट खाद्य पदार्थों के रूप में लोएटा शुक्ति, बाता शुक्ति,

पंचफोरन माछ, आलू बरबत्तो, बैगन शुक्ति, सूप चकोई आदि की व्यवस्था की थी।

बेकरी के छात्रों ने कई तरह के आइटम तैयार किए थे।


इस

मौके पर सांस्कृतिक कार्यक्रम भी पेश किए गए। संस्थान के राजभाषा अधिकारी

मुर्तुजा कमाल ने बताया कि पर्यटन मंत्रालय के एक भारत श्रेष्ठ भारत मिशन

के तहत पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से लोगों को देश के विभिन्न

हिस्सों की कला संस्कृति और खानपान से अवगत कराना आवश्यक होता है ताकि

पर्यटक जागरूक होकर विभिन्न पर्यटन क्षेत्रों में घूमने के लिए अपने आप

जानकारी से समृद्ध कर सकें। होटल मैनेजमेंट जैसे संस्थान में अध्ययनरत

छात्र-छात्राओं को भी देश के अलग-अलग राज्यों और दूसरे देशों के खानपान और

कला संस्कृति के बारे में जानकारी रखना आवश्यक होता है।


कार्यक्रम

के सफल आयोजन में प्रवीण झा, अनुपम कुमार, अमित कुमार, गौतम चौधरी,

परमेन्द्र चौधरी, नीरज कुमार, अंकित कुमार, मो. अब्दुल्लाह के अलावा

संस्थान के कर्मचारियों और छात्र-दात्राओं ने सक्रिय भूमिका निभाई।