औरंगाबाद। ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के अध्यक्ष और लोकसभा सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने शनिवार को कहा कि आम आदमी पार्टी, समाजवादी पार्टी, कांग्रेस और अन्य विपक्षी दल 'हिन्दुत्व विचारधारा की पक्षधर' बनने का प्रयास कर रही हैं। 

यह भी पढ़े : IPL 2022 में मुंबई इंडियंस को मिली पहली जीत, ईशान किशन ने कहा- यह समय एक-दूसरे के साथ खड़े रहने का है

ओवैसी ने कहा, 'आप, सपा, कांग्रेस, मनसे और राकांपा देश में हिन्दुत्व विचारधारा की वफादार बनने की कोशिश कर रही हैं।' ओवैसी ने औरंगाबाद में स्थानीय सांसद इमतियाज जलील द्वारा आयोजित इफ्तार पार्टी में शामिल होने के बाद यह बात कही। उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों को निशाना बनाया जा रहा था और सभी सरकारें शांत थीं। 

यह भी पढ़े : Monthly Horoscope May 2022: ग्रहों का उलटफरे इन राशिवालों को आर्थिक लाभ दिलाएगा, इन राशियों के लिए जोखिम भरा रहेगा ये महीना


उन्होंने कहा, 'आज देश में बेरोजगारी सबसे बड़ा मुद्दा है। इस मुद्दे को उठाने के बजाय कुछ राजनीतिक दल देश भर में अल्पसंख्यकों को निशाना बनाकर हिन्दुत्व की राजनीति को मजबूत बना रही हैं।' राज्य सरकार को निशाना बनाते हुए ओवैसी ने रमजान, ईद और अक्षय तृतीया जैसे त्योहारों के बीच औरंगाबाद में महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) अध्यक्ष राज ठाकरे की बैठक को अनुमति देने के लिए महाराष्ट्र गृह मंत्रालय की आलोचना की। उन्होंने कहा कि यदि पुलिस ने अनुमति दी है, तो यह पुलिस और राज्य सरकार की जिम्मेदारी है कि इलाके में कानून व्यवस्था का पालन किया जाए।