केंद्रीय कपड़ा तथा महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने आज आरोप लगाया कि नागरिकता संशोधन अधिनियम(सीएए) के मुद्दे पर विपक्ष अराजकता का हाथ थामे राष्ट्र विरोधी ताकतों के साथ खड़ा है। ज्ञात हो कि वह यहां सीएए पर भाजपा के जन जागरण अभियान का शुभारंभ करते समय बोल रही थीं। उनके साथ भाजपा के स्थानीय नेताओं के अलावा राज्यसभा सांसद डीपी वत्स भी थे। केंद्रीय मंत्री ने आरोप लगाया कि विपक्ष भ्रांतियां फैला रहा है। उन्होंने कहा कि विपक्ष और मुख्य रूप से कांग्रेस पाकिस्तान की हुकूमत के साथ सुर में सुर मिला रहे हैं।

कांग्रेस पर बोला तीखा हमला

कांग्रेस पर तीखा हमला करते हुए इरानी ने कहा कि कांग्रेस उन उपद्रवियों का समर्थन कर रही है जो पुलिस तथा सेना के जवानों पर पत्थरबाजी करते हैं या लाठियां बरसाते हैं। उन्होंने कहा कि एक टैक्स पेयर के नाते वह कांग्रेस सहित सीएए का विरोध करने वाले विपक्षी दलों से यह पूछना चाहती हैं कि वह किसके लिए बस, ट्रेनों तथा सार्वजनिक संपत्ति को जला रहे हैं, क्या पाकिस्तान के लिए ऐसा कर रहे हैं?

विपक्ष से किए सवाल

उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी की पिछले साल लोकसभा चुनाव में ऐतिहासिक जीत के बाद से विपक्ष इस फिराक में था कि कब जाति और धर्म के आधार पर बांटने का मौका मिले। उन्होंने पूछा कि सिख तथा ङ्क्षहदू के खिलाफ होने के साथ साथ क्या अब विपक्ष ने क्या यह भी ठान लिया है कि वह बौद्ध, जैन, क्रिश्चियन तथा पारसी समुदाय के खिलाफ भी है?


नहीं वापस होगा सीएएः ईरानी

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान के ननकाना साहिब में जो हुआ क्या वह प्रमाण विपक्षी पार्टियों के लिए काफी नहीं है कि वर्तमान में पाकिस्तान में सिखों के साथ कैसा व्यवहार हो रहा है? उन्होंने कहा कि गृहमंत्री अमित शाह यह स्पष्ट कर चुके हैं कि अब सीएए वापस नहीं होगा। इरानी ने ये भी कहा कि अधिनियम के बारे में भ्रांतियां समाप्त करने के लिए समस्त जानकारी संसद तथा भाजपा की वेबसाइट पर उपलब्ध है।

अब हम twitter पर भी उपलब्ध हैं। ताजा एवं बेहतरीन खबरों के लिए Follow करें हमारा पेज : https://twitter.com/dailynews360