पटना। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी (Former Bihar Chief Minister Jitan Ram Manjhi) के ब्राह्मणों के खिलाफ आपत्तिजनक बयान की चारो तरफ निंदा हो रही है। 

इस बीच, बिहार भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने इशारों ही इशारों में मांझी पर निशाना साधा है। भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष राजीव रंजन (BJP State Vice President Rajiv Ranjan) ने सोमवार को कहा कि कांग्रेस की देखादेखी लगभग सभी परिवारवादी पार्टियों की राजनीति हिन्दू समाज के अपमान पर ही टिकी हुई है।

पूर्व विधायक रंजन ने कहा कि कांग्रेस और उसकी सहयोगियों के मन में शुरूआत से ही हिंदू समाज के प्रति घृणा का भाव रहा है, इसी वजह से पहले इन्होने धर्म के आधार पर देश का बंटवारा किया और बाद में हिन्दू समाज में जातिवाद के जहर को घोलने में लगे हैं।

उन्होंने कहा, 'इन दलों के लिए हिन्दू धर्म को नीचा दिखाना एक फैशन की तरह हो गया है। कभी यह ब्राह्मणों को गाली देते हैं तो कभी गाय को माता कहने का विरोध करते हैं। इसी तरह कभी यह प्रभु श्री राम को काल्पनिक बताते हैं तो कभी अन्य देवी-देवताओं को गाली देते हैं।'

उन्होंने कहा कि यही लोग जाति विशेष के ठेकेदार बन एक जाति को दूसरी जाति से लड़ाने की साजिश भी रचते हैं। इनके बयानों से ऐसा प्रतीत होता है कि यह पार्टियां धर्म परिवर्तन में लगी विदेशी ताकतों से पैसे खाकर ऐसे बयान देते हैं।

पूर्व विधायक रंजन ने कहा कि इन पार्टियों का कहर सिर्फ हिंदू समाज पर ही टूटता है, अन्य धर्मों की बात आने पर यह सब चुप्पी साध लेते हैं। रोहिंग्या को बसाने की पैरवी करने वाले कश्मीरी पंडितों के पुनर्वास पर मौन धारण किये रहते हैं।

उन्होंने दावे के साथ कहा कि देश का हिन्दू समाज अब जागने लगा है, जो विपक्षी दलों को पच नहीं रहा। मोदी राज के बरकरार रहने के डर से सहमे इनके नेता अब मंदिर-मंदिर घूमने लगे हैं, लेकिन इनकी फितरत पुरानी ही है। यह दल जान लें कि वह जितना हिन्दुओं के खिलाफ बोलेंगे, हिन्दू समाज अब उतना ही मजबूत होगा।