केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राष्ट्रीय राजमार्ग राज्यमंत्री तथा पूर्व थल सेनाध्यक्ष डॉ. वी.के. सिंह ने रविवार को कहा कि नागिरकता संशोधन कानून (सीएए) में ऐसा कुछ नहीं है, जिससे किसी को इसका विरोध करना पड़े। उन्होंने कहा कि इसका विरोध करके विपक्षी नेता और दल अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देश की छवि को खराब करने का कुत्सित प्रयास कर रहे हैं।


डॉ. सिंह बरवाला में महर्षि दधीचि परमार्थ ट्रस्ट के नवस्थापित फिजियोथेरेपी एवं योग केंद्र का उद्घाटन करने के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर कुछ पढ़े-लिखे लोग भी अनपढ़ों की भांति विपक्षी दलों और राष्ट्रविरोधी ताकतों के हाथों में खेल रहे हैं। ऐसे लोग बेवजह धरना प्रदर्शन कर और सार्वजनिक रास्तों को रोककर बेवकूफों जैसा व्यवहार कर रहे हैं।

राष्ट्रविरोधी तातकों की साजिश

उन्होंने कहा कि राष्ट्र विरोधी ताकतों ने नागरिकता संशोधन कानून को लेकर जो भ्रम फैलाया है, उसे निकालकर फेंक देना चाहिए। इस कानून से किसी के साथ भी कोई नाइंसाफी नही होगी, क्योंकि यह कानून नागरिकता देने का कानून है न कि किसी की नागरिकता छीनने का कानून है। उन्होंने कहा कि सीएए पर जब विपक्षी दलों की पोल खुलने लगी तो उन्होंने राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) पर भी भ्रम फैलाना शुरू कर दिया।