01 जुलाई 2022 से देश में वित्तीय लेनदेन और ऑनलाइन भुगतान संबंधी कई नियम बदल जाएंगे। साथ ही कई उत्पाद महंगे हो जाएंगे। इन नियमों के लागू होने के बाद कुछ भार आपकी जेब पर भी पड़ सकता है। आइए जानते हैं इन बदलावों के बार में...

यह भी पढ़े : पिता ने अपनी 5 साल की बेटी के साथ की इतनी शर्मनाक हरकत , आरोपी IT इंजीनियर पिता गिरफ्तार


1. ऑनलाइन भुगतान के लिए लागू होगा टोकन सिस्टम

एक जुलाई से ऑनलाइन शापिंग कंपनियां, मर्चेंट और पेमेंट गेटवे क्रेडिट और डेबिट कार्ड का डेटा अपने प्लेटफॉर्म पर नहीं रख पाएंगे। बैंक ग्राहकों की सुरक्षा को देखते हुए भारतीय रिजर्व बैंक एक जुलाई कार्ड टोकेनाइजेशन सिस्टम शुरू करने जा रहा है। इसके तहत कार्ड के ब्योरे को टोकन में बदल दिया जाएगा। यह आनलाइन लेनदेन का सुरक्षित तरीका होगा।

यह भी पढ़े : हुड्डा-सैमसन की जोड़ी ने तोड़ा वर्ल्ड रिकॉर्ड, रोहित शर्मा- केएल राहुल की पार्टनरशिप को भी छोड़ा पीछे


2. आधार-पैन को लिंक करने पर दोगुना जुर्माना

केंद्र सरकार ने जुर्माने के साथ पैन और आधार कार्ड को लिंक करने की आखिरी तारीख 31 मार्च 2023 तय की है। 30 जून 2022 तक इसे लिंक करने पर 500 रुपये जुर्माने का प्रावधान है। लेकिन एक जुलाई से यह जुर्माना बढ़कर एक हजार रुपये हो जाएगा। यदि आपने अब तक इसे लिंक नहीं किया है तो एक जुलाई से पहले इस काम को निपटा लें।

यह भी पढ़े : Horoscope June 29 : आज इन राशि के लोगों को रिस्क लेने से बचना होगा , ये लोग तांबे की वस्तु का करें दान


3. गिफ्ट्स पर देना होगा 10 फीसदी टीडीएस

कारोबार और विविध व्यवसायों से प्राप्त होने वाले गिफ्ट पर 01 जुलाई 2022 से 10 फीसदी टीडीएस देना पड़ेगा। ये टैक्स सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर और डॉक्टरों पर भी लागू होगा। सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर्स के लिए टीडीएस देना तभी जरूरी होगा, जब कोई कंपनी मार्केटिंग के उद्देश्य से उन्हें कोई उत्पाद देती है। वहीं अगर दिया उत्पाद कंपनी को वापस लौटा दिया जाता है तो टीडीएस लागू नहीं होगा।

यह भी पढ़े : Gupt Navratri 2022: कल से शुरू होंगे गुप्त नवरात्रि, जानिए घटस्थापना का मुहूर्त, भोग व व्रत नियम

4. क्रिप्टोकरेंसी पर देना होगा टीडीएस

01 जुलाई 2022 के बाद से आईटी अधिनियम की नई धारा 194S के तहत क्रिप्टोकरेंसी के लिए किया गया लेन-देन अगर एक साल में 10,000 रुपये से ज्यादा है तो उस पर एक फीसदी का चार्ज लगेगा। आयकर विभाग ने वर्चुअल डिजिटल एसेट्स के लिए अधिसूचना जारी कर दी है। इसके दायरे में सभी एनएफटी या डिजिटल करेंसी आएंगे।

5. डीमैट अकाउंट की केवाईसी अपडेट नहीं कर पाएंगे

यदि आपने डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट के लिए केवाईसी को अब तक पूरा नहीं किया है तो 30 जून तक इसे हर हाल में निपटा लें। क्योंकि 01 जुलाई के बाद आप केवाईसी अपडेट नहीं कर पाएंगे। इसके बाद आपको परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। इससे पहले डीमैट खातों के लिए केवाईसी को 31 मार्च 2022 तक पूरा करना था, लेकिन सेबी ने इसकी समय सीमा बढ़ाकर 30 जून कर दी थी।

6. दोपहिया वाहनों की कीमतें बढ़ेंगी

एक जुलाई से देश में दोपहिया वाहनों की कीमतें बढ़ जाएंगी। हीरो मोटोकॉर्प ने अपने वाहनों की कीमतों को 3,000 रुपये तक बढ़ाने का फैसला किया है। लगातार बढ़ रही महंगाई और कच्चे माल की कीमतों में तेजी को देखते हुए कंपनी ने यह फैसला लिया है। हीरो मोटोकॉर्प की तरह दूसरी कंपनियां भी अपने वाहनों की कीमतें बढ़ा सकती हैं।

7. एसी के दाम भी बढ़ेंगे

एक जुलाई से देश में एसी भी महंगे हो जाएंगे। ब्यूरो ऑफ एनर्जी एफिसिएंसी ने एयर कंडीशनर्स (एसी) के लिए एनर्जी रेटिंग के नियमों में बदलाव कर दिया है। यह बदलाव एक जुलाई से लागू होंगे। इसके बाद 5 स्टार एसी की रेटिंग घटकर सीधे 4 स्टार हो जाएगी। नई एनर्जी एफिशिएंसी लागू के बाद एसी की कीमतों में 10 फीसदी तक की बढ़ोतरी हो सकती है।