अब अगर आपके पास एक रुपये का नोट है तो आप घर बैठे लखपति बन सकते हैं। जी हां, आपके पास इस समय कमाई करने का अच्छा मौका है। बता दें आप ऑनलाइन 1 रुपये का नोट बेचकर लाखों की कमाई कर सकते हैं, लेकिन इसके लिए आपके पास ये खास वाला एक रुपये का नोट होना चाहिए। मान लीजिए अगर आपके पास ऐसे 5 नोट हैं तो आप 5 लाख रुपये तक आराम से कम सकते हैं। इसके लिए आपको इस खास नोट की फोटो को वेबसाइट पर डालना होगा, जिसके बाद में लोग आपके नोट के लिए पैसों की बोली लगाएंगे और आप जिसको चाहे ये नोट बेचकर लाखों कमा सकते हैं।

आपको बता दें इस समय कई ऐसी वेबसाइट हैं जहां पर पुराने नोट और स‍िक्‍कों की खरीद ब‍िक्री की जा रही है अगर आपके पुराने नोट और स‍िक्‍के तय शर्तों के ह‍िसाब से हैं तो आपको काफी अच्‍छे पैसे म‍िल सकते हैं। आइए आपको बताते हैं कि आपको इसके लिए कौन सा वाला एक रुपये का नोट चाहिए होगा। अगर कमाई की बात की जाए तो आप इस नोट के जरिए 1 लाख रुपये कमा सकते हैं। इन नोटों को ऑक्शन में बेचते समय आप नोटों की बोली के दौरान मोलभाव भी कर सकते हैं।

बता दें कि इंडियामार्ट पर इन नोटों को घर बैठे अच्छी कीमत पर बेचा जा सकता है। इन भी प्लेटफॉर्म्स पर इस नोट की शानदार कीमत मिलेगी। इन कंपनी की साइट पर जाकर आप ये नोट सेल कर सकते हैं। इसके बदले में आपको लाखों रुपए मिल सकते हैं। एक रुपये के नोट की कहानी भी बहुत अलग है। इसे आरबीआई नहीं बल्कि भारत सरकार जारी करती है। यही वजह है कि एक रुपये के नोट पर रिजर्व बैंक के गवर्नर का हस्ताक्षर नहीं होता है। एक रुपये के नोट पर देश के वित्त सचिव का हस्ताक्षर होता है।

एक रुपये के पहले नोट का मुद्रण 30 नवंबर, 1917 को हुआ था। उस नोट पर किंग जॉर्ज पंचम की फोटो होती थी। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की वेबसाइट के मुताबिक 1926 में पहली बार एक रुपये के नोट की छपाई बंद हो गई थी। इसे 1940 में फिर से शुरू किया गया। इसके बाद 1994 में एक रुपये के नोट की छपाई फिर से बंद कर दी गई। इसकी शुरुआत एक बार फिर 2015 में हुई।

पैसा कमाने का जरिया इन दिनों ई-कॉमर्स वेबसाइट पर भी ट्रेंड कर रहा है। अगर आपके पास माता वैष्णो देवी के 5 और 10 के सिक्के हैं तो आप इनको बेचकर पैसा कमा सकते हैं। बता दें इन सिक्कों को साल 2002 में जारी किया गया था। माता रानी की तस्वीर होने के कारण लोग इन सिक्कों को काफी लकी मान रहे हैं। हिंदू धर्म में माता वैष्णो देवी की पूजा की जाती है। इसलिए, लोग इस तरह के सिक्कों के लिए लाखों रुपये खर्च कर रहे हैं।