बिहार में रविवार को एक बार फिर मौसम ने करवट ली। देर शाम राज्य के कई जिलों में तेज हवा के साथ बारिश हुई, तो कहीं ओलावृष्टि हुई। वहीं राज्य के रोहतास जिले में वज्रपात से एक शख्स की मौत हो गई। तेज बारिश और ओलावृष्टि से राज्य के किसानों को बड़े पैमाने पर नुकसान होने की आशंका है।


छपरा शहर में भी देर शाम तेज आंधी के कारण कई जगह सड़क पर पेड़ गिर गए। वहीं बिजली सेवा को भी बंद कर दिया गया। रविवार की शाम अचानक बिगड़े मौसम के मिजाज के कारण यहां तेज बारिश और ओले पड़ने से किसानों के खेतों और खलिहानों में रखा गेंहू बर्बाद हो गया। अधिकांश किसान अपने-अपने खेतों से तैयार गेंहू की फसल को कटवाकर कुछ खेतों में तो कुछ खलिहानों में रखे थे। लेकिन आज शाम अचानक ओले के साथ तेज बारिश हो गई, जिससे गेंहू बुरी तरह भींग गया।

छपरा जिले के मढ़ौरा गांव निवासी किसान ज्वाला सिंह ने बताया कि बारिश से जो गेंहू भींग गया, उसका दाना काला पड़ जाएगा और अगर मौसम एक दो दिन इसी तरह रह गया तो खेत और खलिहानों में काट कर रखा गया गेंहू सड़ जाएगा। उन्होंने कहा कि किसान एक तो लॉकडाउन से परेशान है, ऊपर से बिना मजदूर के किसी तरह से गेंहू की कटनी कराए थे लेकिन अचानक हुई बारिश ने किसानों का दर्द और बढ़ा दिया है।


छपरा डीएम सुब्रत कुमार सेन ने बताया कि किसानों के फसल की क्षति का आंकलन करने के बाद उन्हें उचित मुआवजा दिया जाएगा।

वहीं, रोहतास जिला के कोचस थाना क्षेत्र के सैलाश गांव में वज्रपात से एक शख्स की मौत हो गई। मृतक का नाम भोला शर्मा है, जो स्वर्गीय राजगृह शर्मा का पुत्र बताया जाता है। घटना के बारे में बताया जाता है कि भोला शर्मा अपने खेत से जब लौट रहे थे तो तेज वज्रपात हुआ। जिसमें भोला शर्मा की मौत हो गई। लोगों की मदद से उसे प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर लाया गया। लेकिन डॉक्टरों ने भी उसे मृत घोषित कर दिया। घटना के बाद परिजनों में हाहाकार मचा हुआ है।