बंगाल की खाड़ी के दक्षिण-पूर्वी तथा आसपास के क्षेत्र पर बने गहरे दबाव के अगले 24 घंटों के दौरान चक्रवाती तूफान में बदलने की आशंका है। मौसम विभाग ने मंगलवार को बताया कि यह गहरा दबाव पिछले छह घंटों से 10 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से पश्चिमोत्तर की ओर बढ़ रहा है और मौजूदा समय में यह त्रिकोमाली (श्रीलंका) के लगभग 530 किलोमीटर पूर्व-दक्षिण-पूर्व में और कन्याकुमारी से 930 किलोमीटर पूर्व-दक्षिण-पूर्व में स्थित है। 

मौसम विभाग के अनुसार अगले 24 घंटों के दौरान इसके चक्रवाती तूफान में तब्दील होने के आसार हैं। यह पश्चिम-पश्चिमोत्तर की ओर बढ़ रहा है तथा बुधवार शाम या रात में यह त्रिंकमाली के निकट श्रीलंका का तट पार कर सकता है। इसके बाद इसके पश्चिम की ओर बढऩे के आसार हैं तथा तीन दिसंबर की सुबह यह कोमोरिन क्षेत्र में और पश्चिम की ओर बढ़ते हुए दक्षिण तमिलनाडु तट से टकरा सकता है।  

मौसम विभाग ने मंगलवार, बुधवार तथा शुक्रवार के लिए दक्षिण तमिलनाडु और दक्षिण केरल में ‘येलो अलर्ट’ जारी किया है जबकि तीन दिसंबर यानी गुरुवार के लिए रेड अलर्ट जारी किया है। इसके साथ ही उत्तर तमिलनाडु, पुड्डुचेरी, कराईकल , उत्तर केरल, माहे तथा दक्षिण तटीय आंध्र प्रदेश में चार दिन यानी चार दिसंबर तक ‘येलो अलर्ट’ जारी किया गया है। मौसम विभाग के अनुसार चक्रवात के कारण तमिलनाडु के कन्याकुमारी, तिरुनेलवेली, तूत्तुकुडी, रामनाथपुरम, तेनकाशी तथा शिवगंगई में विभिन्न जगहों पर दो दिसंबर तथा तीन दिसंबर को भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है। 

वहीं दक्षिण केरल (तिरुवनंतपुरम, कोल्लम, पथनमथिट्टा तथा अलप्पुझा) में तीन दिसंबर को विभिन्न स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है। इसके अलावा दक्षिण तमिलनाडु में दो दिसंबर तथा चार दिसंबर को और दक्षिण केरल में तीन दिसंबर तथा चार दिसंबर को भारी से बहुत भार बारिश होने के आसार हैं। मौसम विभाग के अनुसार उत्तरी तमिलनाडु, पड्डुचेरी, माहे, कराीकल तथा उत्तरी केरल में दो दिसंबर तथा तीन दिसंबर को विभिन्न जगहों पर भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है। इसके अलावा दक्षिण तटीय आंध्र प्रदेश में दो दिसंबर तथा तीन दिसंबर को लक्षद्वीप में तीन दिसंबर तथा चार दिसंबर को भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है।