झारखंड में (chhath pooja in jharkhand) गुरुवार सुबह छठ के दो घाट गोलियों और बम के धमाकों से दहल गये। हजारीबाग जिले में एक छठ घाट पर अपराधियों ने एक युवक को गोलियों (firing during chhath puja) से भून डाला तो दूसरी घटना में जमशेदपुर से सटे आदित्यपुर थाना क्षेत्र के बेलडीह घाट पर बम और गोलियां चलने से दहशत (blast during chhath puja) फैल गयी। बमबारी और फायरिंग में दो लोग घायल हुए हैं।

हजारीबाग जिले के केरेडारी थाना क्षेत्र अंतर्गत कोले गांव में गुरुवार सुबह उदीयमान सूर्य को अघ्र्य देने और पूजा-अर्चना के बाद श्रद्धालु जब घर लौट रहे थे, तो केदार ठाकुर (Kedar Thakur Murder) नामक एक युवा व्यवसायी पर अपराधियों ने ताबड़तोड़ फायरिंग की। उसने मौके पर ही दम तोड़ दिया। पुलिस के मुताबिक दो अपराधी एक मोटरसाइकिल पर आये थे। घटना को अंजाम देने के बाद अपराधी भाग गये। 

केदार ठाकुर पत्थर क्रशर के व्यवसाय से जुड़ा था। सुबह-सुबह कई राउंड फायरिंग  (firing during chhath puja) से गांव में दहशत फैल गयी। लोग इधर-उधर भागने लगे। घटना की सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची। प्रत्यक्षदर्शियों से पूछताछ की जा रही है। पुलिस का मानना है कि इस घटना के पीछे की वजह आपसी रंजिश हो सकती है।

दूसरी घटना सरायकेला-खरसावां जिले के आदित्यपुर थाना क्षेत्र की है। जमशेदपुर शहर से सटे बेलडीह में छठ घाट पर सूर्य को अघ्र्य देने के बाद विक्की नंदी नामक युवक अपनी कार पर बैठ रहा था, तभी उसपर बम   (blast during chhath puja) फेंके गये। हमले में वह घायल हो गया और उसकी कार क्षतिग्रस्त हो गयी। जवाब में विक्की ने भी पिस्टल से फायरिंग की। एक गोली छिटक कर घाट पर मौजूद एक युवती के पांव में लगी, जिससे वह घायल हो गयी। बम चलाने वाले भाग खड़े हुए। इस घटना से मौके पर सनसनी फैल गयी। घायल विक्की और युवती को इलाज के लिए टाटा मेन हॉस्पिटल ले जाया गया है। घटना की सूचना पाकर पुलिस भी मौके पर पहुंची। मामले की छानबीन की जा रही है। दोनों घटनाओं में अब तक किसी की गिरफ्तारी की सूचना नहीं है।