नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजंस (एनआरसी) का पहला ड्राफ्ट सोमवार को जारी कर दिया गया है। इसमें असम के 3.29 करोड़ लोगों में से 1.9 करोड़ लोगों को जगह दी गई है, जिन्हें कानूनी रूप से भारत का नागरिक माना गया है।

असम के बहुत से लोगों के नाम इस एनआरसी में नहीं हैं। 31 दिसंबर को प्रकाशित हुर्इ एनआरसी के पहले ड्राफ्ट में सिलचर के एक व्यक्ति ने अपना नाम न देखकर आत्महत्या कर ली। सिलचर में हाफिज खान नामक एक व्यक्ति का नाम एनआरसी में नही था जब उसने यह देख तो इस सदमें को न झेल सका आैर आत्महत्या कर ली ।  


आपको बता दें कि जनरल आॅफ इंडिया शैलेष ने कहा, 'यह पहला ड्राफ्ट है। इसमें 1.9 करोड़ लोगों के नाम हैं, जिनका वेरिफिकेशन हो गया है। जैसे ही वेरिफिकेशन का काम पूरा होता जाएगा, वैसे ही हम अन्य ड्राफ्ट भी लाएंगे।' एनआरसी के स्टेट कॉर्डिनेटर प्रतीक हजेला ने कहा कि जिन लोगों का नाम पहली लिस्ट में नहीं है, उन्हें चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है। 

उन्होंने कहा, 'नामों का वेरिफिकेशन एक लंबी प्रक्रिया है। ऐसे में संभावना है कि इसमें कई ऐसे नाम भी छूट गए हों जो एकल परिवार से आते हैं। बाकी डॉक्युमेंट्स का वेरिफिकेशन किया जा रहा है, ऐसे में लोगों को परेशान होने की जरूरत नहीं है।'