पटना हवाईअड्डेे पर तैनात इंडिगो एयरलाइंस कंपनी के स्टेशन प्रबंधक रूपेश कुमार सिंह की हत्या रोडरेज के कारण हुई थी। इस हत्याकांड का खुलासा करते हुए पटना पुलिस ने बुधवार को कहा कि इस मामले में रितुराज को गिरफ्तारर किया गया है, जिसने अपना अपराध स्वीकार कर लिया है। पटना के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) उपेंद्र शर्मा ने एक संवाददाता सम्मेलन में दावा करते हुए कहा कि, रूपेश की हत्या रोडरेज को लेकर हुई थी। रूपेश की हत्या 12 जनवरी की शाम 6.58 बजे हुई थी।

उन्होंने कहा कि, पटना के ही रहने वाले रितुराज को इस मामले में गिरफ्तार किया गया है। इस मामले में रितुराज के तीन और साथियों की तलाश में पुलिस छापेेमारी कर रही है। उन्होंने बताया कि नवंबर महीने में रूपेश की गाड़ी ने रितुराज की बाइक में लोजपा कार्यालय के सामने टक्कर माारी थी, जिसके बाद रितुराज बदला लेने की फिराक में था। पुुलिस का दावा है कि इसके पहले भी रितुराज ने रूपेश की हत्या करने की कोशिश की थी, लेकिन वह कामयाब नहीं हो सका था।

पुलिस नेे गिरफ्तार रितुराज को पत्रकारों के सामने भी लाया। रितुराज ने पत्रकारों के सामनेे भी अपना अपराध कबूूल किया। शर्मा ने हालाांकि यह भी कहा कि रितुराज का अब तक कोई अपराधिक इतिहास नहीं है। वह मोटरसाइकल की चोरी करता था। उन्होंने कहा कि दो बाइक पर सवार होकर चार अपराधी रूपेेश की कार का पीछा करते हुए पहुंचे थे और उनके अपार्टमेंट के सामने की गोली मार दी थी। घटना को अंजाम देने के बाद रितुराज रांची भाग गया था।

इस मामले में जांच के लिए एक एसआईटी गठित की गई थी। इसके अलावा पटना पुलिस की एक और टीम को भी जांच में लगाया गया था। उन्होंने कहा कि इस मामले में 50 से अधिक लोगों से व्यक्तिगत तौर पर पूछताछ की गई। करीब 200 सीसीटीवी कैमरे खंगाले गए, 2000 मोबाइल नंबरों की डिटेल की जांच की गई। उल्लेेखनीय है कि पुलिस इस माामले को ठेका विवाद से जोडक़र जांच कर रही थी। एसएसपी ने बताया कि पुलिस इस मामले में सभी कोणों से जांच की है, जिसमें तकनीक का भी सहारा लिया गया है। पटना के शास्त्रीनगर थाना क्षेत्र में पटना हवाई अड्डे के इंडिगो एयरलाइंस कंपनी के स्टेशन प्रबंधक रुपेश कुमार सिंह (40 वर्ष) की 12 जनवरी को अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी।सिंह पुनाईचक स्थित कुसुमविला अपार्टमेंट में प्रवेश कर ही रहे थे कि अपराधियों ने उनपर ताबड़तोड़ गोली चला दी।