पाकिस्तान ने अब कश्मीर के मुद्दे पर अपने पुराने दोस्त सऊदी अरब को बड़ी धमकी दे दी है।  जानकारी के अनुसार पाकिस्तान की नापाक साजिश में साथ नहीं देने पर कुंठा में आए पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने सऊदी अरब के नेतृत्व वाले ऑर्गनाइजेशन ऑफ इस्लामिक कंट्रीज को अब धमकियाँ देना शुरू कर दिया है।  उन्होंने कहा कि ओआईसी कश्मीर पर अपने विदेश मंत्रियों की परिषद की बैठक बुलाने में हीलाहवाली बंद करे। 

एक पाकिस्तान के न्यूज चैनल पर शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि मैं एक बार फिर से पूरे सम्मान के साथ ओआईसी से कहना चाहता हूं कि विदेश मंत्रियों की परिषद की बैठक हमारी अपेक्षा है।  यदि आप इसे बुला नहीं सकते हैं तो मैं प्रधानमंत्री इमरान खान से यह कहने के लिए मजबूर हो जाऊंगा कि वह ऐसे इस्लामिक देशों की बैठक बुलाएं जो कश्मीर के मुद्दे पर हमारे साथ खड़े होने के लिए तैयार हैं। 

पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने अपने इस बयान के जरिए ओआईसी को एक तरह से धमकी दे डाली।  एक अन्य सवाल के जवाब में कुरैशी ने कहा कि पाकिस्तान और ज्यादा इंतजार नहीं कर सकता है। 

बताया जा रहा है कि पाकिस्तान कश्मीर से अनुच्छेद 370 के खात्मे के बाद से ही 57 मुस्लिम देशों के संगठन ओआईसी के विदेश मंत्रियों की बैठक बुलाने के लिए लगातार सऊदी अरब पर दबाव डाल रहा है।  हालांकि अब तक उसे इस प्रयास में सफलता नहीं मिल पाई है।  संयुक्त राष्ट्र के बाद ओआईसी दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा संगठन है। 

कुरैशी ने कहा कि पाकिस्तान ने सऊदी अरब के अनुरोध पर खुद को कुआलालंपुर शिखर सम्मेलन से अलग कर लिया था और अब पाकिस्तानी यह मांग कर रहे हैं कि सऊदी अरब कश्मीर के मुद्दे पर नेतृत्व दिखाए। पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने कहा कि अगर ओआईसी के विदेश मंत्रियों की बैठक होती है तो इससे कश्मीर पर भारत को इस्लामिक देशों की ओर से स्पष्ट संदेश जाएगा।