उत्तर प्रदेश में नियमों को तोड़ने वाले लाउडस्पीकर के खिलाफ सरकार की कार्रवाई जारी है। खबर है कि राज्य में एक सप्ताह के भीतर करीब 54 हजार लाउडस्पीकर हटाए गए हैं। बीते हफ्ते हुई इस कार्रवाई के दौरान ये लाउडस्पीकर डेसिबल सीमा का उल्लंघन करते पाए गए थे। वहीं, पुलिस ने कई स्पीकर की आवाज भी कम कराई है।

यह भी पढ़े : Horoscope May 2: आज का दिन इन 5 राशियों के लिए बहुत की भाग्यशाली, ये राशि वाले हरी वस्‍तु का दान करें


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देशों पर पूरे राज्य में लाउडस्पीकर के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, बीते हफ्ते जहां अलग-अलग धार्मिक स्थलों से 54 हजार लाउडस्पीकर उतारे गए। वहीं, इस दौरान 60 हजार 295 की आवाज भी कम कराई गई है। एडीजी (कानून-व्यवस्था) प्रशांत कुमार का कहना है कि आने वाले दिनों में लाउडस्पीकर के खिलाफ कार्रवाई जारी रहने के आसार हैं।

उन्होंने कहा, 'हमने यह सुनिश्चित किया है कि अभियान के दौरान पुलिस की तरफ से किसी का उत्पीड़न न हो।' उन्होंने यह भी कहा कि बगैर किसी भेदभाव के सभी धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर हटाए जाएंगे। पुलिस अधिकारी ने कहा, 'नियमों के अनुसार, लाउडस्पीकर, जो जिला प्रशासन की अनुमति के बगैर लगाए गए या मंजूरी प्राप्त संख्या से ज्यादा लगाए गए हैं, उन्हें हटाया जा रहा है।'

यह भी पढ़े : लव राशिफल 2 मई:  इन राशि वालों की होगी किसी रहस्मयी वयक्ति से होगी मुलाकात, मेष राशि वालों का हो सकता है ब्रेकअप


कुमार ने कहा कि एक धार्मिक स्थल पर एक ही लाउडस्पीकर लगाया जाएगा, फिर चाहे वो मंदिर हो या मस्जिद हो। उन्होंने बताया कि अगर धार्मिक स्थल बड़ा है, तो वरिष्ठ अधिकारी के निरीक्षण के बाद एक से ज्यादा स्पीकर लगाए जा सकते हैं। एडीजी ने कहा कि कार्रवाई के दौरान उच्च न्यायालय के आदेश का भी ध्यान रखा जा रहा है।