छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में कथित तौर पर चोरी करने के शक में प्राइवेट कंपनी के सुरक्षाकर्मियों ने दो लोगों को खंभे से बांधकर उनके साथ मारपीट की।  पुलिस ने इस मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है, वहीं एक आरोपी फरार है। 

कोरबा जिले के पुलिस अधिकारी ने बताया कि जिले के कुसमुंडा थाना क्षेत्र के अंतर्गत साउथ ईस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड के खदान क्षेत्र में लोहा चोरी का अपराध स्वीकार करवाने के लिए सुभाष राम सिदार (55) की पिटाई करने के आरोप में पुलिस ने राजेश सिंह राजपूत (53), गोवर्धन कुमार साहू (29) और अशोक कुमार कश्यप (46) को गिरफ्तार किया है। 

पुलिस को जानकारी मिली है कि इस महीने की 17 तारीख को सुभाष राम सिदार अपने एक अन्य साथी हीरा बहादुर (40) के साथ कुसमुण्डा खदान क्षेत्र में विश्वकर्मा पूजा देखने गया था।  जब सुभाष और हीरा वापस अपने घर जा रहे थे तब निजी कंपनी के दो सुरक्षाकर्मियों ने दोनों को पकड़ लिया और कंपनी के कार्यालय में ले गए। 

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि दोनों सुरक्षाकर्मियों ने सुभाष और हीरा को लोहा चोरी का अपराध स्वीकार करने के लिए कहा।  उन्होंने जब अपराध स्वीकार नहीं किया तब दोनों को अलग अलग खंभों में बांध दिया गया और उनकी पिटाई शुरू कर दी।  बाद में दो अन्य सुरक्षाकर्मी भी वहां पहुंच गए और चारों ने मिलकर दोनों को जमकर पीटा। 

सुभाष किसी तरह 18 तारीख को पुलिस थाने पहुंचा और निजी सुरक्षा कर्मियों के खिलाफ मामला दर्ज कराया।  सोमवार को पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।  इस मामले का एक आरोपी फरार है। पुलिस ने उसकी खोज शुरू कर दी है।  घटना का वीडियो वायरल होने के बाद जिलाधिकारी साहू कानून ने मामले की जांच करने का आदेश दिया है। जिले के अधिकारियों ने बताया कि कटघोरा क्षेत्र के अनुविभागीय अधिकारी की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय समिति इस मामले की जांच करेगी।