नई दिल्ली। कांग्रेस (Congress) के असंतुष्ट नेता कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) ने पार्टी के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) को पद्मभूषण (Padma Bhushan) दिए जाने पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि यह विडंबना ही है कि जिस पार्टी की उन्होंने आजीवन सेवा की, वह देश सेवा में उनके योगदान को नहीं पहचान पाई। 

उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने भले ही गुलाम नबी आजाद जैसे बड़े नेता नेता के योगदान को नहीं पहचाना है, लेकिन देश ने उनके योगदान को समझा है और राष्ट्रीय पर्व गणतंत्र दिवस (Republic day) पर उन्हें पद्म भूषण से सम्मानित किया है। 

सिब्बल ने ट्वीट कर कहा, 'गुलाम नबी आजाद को पद्म भूषण दिया गया। बधाई हो भाईजान। विडंबना है कि कांग्रेस को उनकी सेवा की जरूरत नहीं है जबकि पूरा देश सार्वजनिक जीवन में उनके योगदान को पहचानता है।' 

बता दें कि आजाद तथा सिब्बल कांग्रेस के असंतुष्ट गुट समूह 23 के नेता हैं और यह गुट कांग्रेस में नेतृत्व परिवर्तन की मांग कर रहा है। असंतुष्ट गुट और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Congress President Sonia Gandhi) के समर्थक नेताओं के बीच काफी समय से तनातनी चल रही है। हाल ही में कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक भी इसी गुट की मांग पर हुई जो काफी हंगामेदार रही।