भारत से आने-जाने वाली अनुसूचित अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक अंतरराष्ट्रीय (commercial international flights) उड़ानें 31 जनवरी, 2022 तक निलंबित रहेंगी। नागर विमानन महानिदेशालय (DGCA) ने एक सर्कुलर में यह जानकारी दी। DGCA ने COVID-19 के ओमिक्रॉन संस्करण के प्रसार पर बढ़ती चिंताओं के कारण वाणिज्यिक अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ानों पर प्रतिबंध बढ़ा दिया है।

DGCA ने 15 दिसंबर से निर्धारित अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को फिर से शुरू नहीं करने का फैसला किया। DGCA ने अपने सर्कुलर में कहा कि "सक्षम प्राधिकारी ने 31 जनवरी, 2022 के 2359 बजे तक भारत से आने-जाने के लिए अनुसूचित अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक यात्री सेवाओं के निलंबन को बढ़ाने का फैसला किया है।"
COVID-19 महामारी के प्रकोप के बाद 23 मार्च, 2020 से भारत में अनुसूचित अंतर्राष्ट्रीय यात्री सेवाएं निलंबित हैं। हालांकि, वंदे भारत मिशन और चुनिंदा देशों के साथ "एयर बबल (air bubble)" व्यवस्था के तहत विशेष अंतरराष्ट्रीय उड़ानें चल रही हैं। भारत के पास दुनिया भर के लगभग 32 देशों के साथ "एयर बबल (air bubble)" सौदे हैं।