कोरोना काल में 10वीं 12वीं कक्षा बोर्ड की परीक्षाएं नहीं हो पाई है। कई राज्यों ने परीक्षाओं को रद्द कर दिया है। परीक्षा रद्द करने के बाद भी राज्य सरकारें परिणाम जारी कर रही है। परिणामों की बात करें तो हिमाचल प्रदेश शिक्षा बोर्ड के 10वीं के नतीजे इस बार चौंकाने वाले आए हैं। दिमाग को सन्न कर देने वाली बात यह है हिमाचल में बहुत से बच्चों ने 700 में से 700 अंक हासिल किए हैं।


हमीरपुर जिला के भोरंज विधानसभा क्षेत्र की लुद्दर महादेव पंचायत के भजलाह गांव की शिवांगी रानौत ने हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड की दसवीं की परीक्षा में 700 में से 700 अंक हासिल कर शत- प्रतिशत अंक हासिल करने का रिकॉर्ड स्थापित किया है। वह ऊना जिला केपीएस इंटरनेशनल सीनियर सेकेंडरी स्कूल की स्टूडेंट हैं। शिवांगी रानौत के लिए प्रेरक उनकी बड़ी बहन शिवानी रानौत हैं, जो 700 में से 680 अंक लेकर प्रदेश भर में 11वें स्थान पर रहीं हैं और जमा दो मेडिकल की परीक्षा में 485 अंक लेकर प्रदेश में 13वें स्थान पर रही हैं।

शिवानी रानौत जमा दो के बाद नीट परीक्षा के लिए अध्ययन में जुटी हैं। वह नॉन मेडिकल स्ट्रीम में आगे की पढ़ाई कर रही हैं। शिवानी और शिवांगी की माता ऊना जिला में हेल्थ सर्विस में कार्यरत हैं, जबकि उनके पिता अजय कुमार वरिष्ठ पत्रकार हैं। दोनों होनहार बेटियों ने बिना किसी कोचिंग अथवा ट्यूशन के शानदार कामयाबी हासिल की है।