- दीपावली के दिन या किसी भी दिन प्रातःकाल उठकर तुलसी की माला बनाकर श्री महालक्ष्मी के चरणों में अर्पित करें।  धन लाभ होगा। 

- दीपावली के दिन या किसी भी दिन प्रातःकाल उठकर तुलसी की माला बनाकर श्री महालक्ष्मी के चरणों में अर्पित करें. धन लाभ होगा.

- दीपावली की या किसी शुभ दिन के प्रातःकाल सबसे पहले साबुत काले उड़द और चमकीला काला वस्त्र किसी को दान करें या शनि मंदिर में चुप-चाप रख दें, ग्रह दोष समाप्त हो जायेगा। 

- दीपावली के दिन काली मिर्च के दाने  ‘ऊँ क्लीं’  बीज मंत्र का जप करते हुए परिवार के सदस्यों के सिर पर घुमाकर दक्षिण दिशा में घर से बाहर फेंक दें, शत्रु शांत हो जायेंगे.

- दीपावली की रात मे 11 हल्दी की गांठ लें, इनको पीले कपड़े में बांध लें फिर लक्ष्मी-गणेश की संयुक्त फोटो के सामने घी का दीपक जलायें और 11 माला निम्न मंत्र का उच्चारण करें। 

‘‘ऊँ वक्र- तुण्डाय हं.’’ फिर हल्दी की गांठों वाली पोटली अपने हाथ में लेकर ‘श्रीं श्रीं’ का जाप करते हुए कैश बाक्स में रखें और प्रतिदिन धूप दें. लक्ष्मी स्थिर रहेगी.

 - दीपावली के दिन या किसी सुभ दिन मे 11 ‘‘कौड़ियां,’’11 गोमती चक्र, 5 सुपारी एवं 5 काली हल्दी की गांठें लें।  अब काली हल्दी की गांठ पर पीली पिसी हुई हल्दी की छींटे लगाते समय श्रीं श्रीं का उच्चारण करते रहें।  दीपावली या किसी रत्री की सारी रात उस सामग्री को पड़े रहने दें, अगले दिन इन सारी वस्तुओं को पीले कपड़े मं बांधकर तिजोरी में रख दें, लक्ष्मी वर्ष भर प्रसन्न रहेंगी।