भुवनेश्वर. पश्चिम ओडिशा (Odisha) के बलांगीर शहर (Balangir) में दिल को झगझोर देने वाली घटना सामने आई है. यहां पर पिछले तीन दिनों से एक पांच साल की बच्‍ची अपनी मृत मां के साथ चिपककर सो रही थी. महिला की मौत की जानकारी तब लगी जब बच्‍ची ने पड़ोसी को बताया कि उसकी मां के मुंह से कीड़े निकल रहे है. उसने बताया कि वह अपनी मां को उठाने की कोशिश कर रही है लेकिन वह सोई हुई है और उठ नहीं रही है. पड़ोसियों ने जब घर के अंदर जाकर देखा तो महिला को मृत पाया. घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची बलांगीर टाउन थाना पुलिस ने शव को कब्‍जे में लेकर पोस्‍टमार्टम के लिए भेज दिया है. बच्‍ची को बाल कल्याण समिति ने रहने के लिए एक आश्रम में भेजा गया है.

जानकारी के मुताबिक करीब डेढ़ साल पहले कुनी नायक नामक महिला कहीं से बलांगरी में रहने के लिए आई थी. कुनी सागरपाड़ा स्थित शिव मंदिर के निकट रहने वाले एक परिवार की मदद से उनके घर के पास ही अपनी मासूम बेटी के साथ रहने लगी. कुनी ने लोगों को बताया कि उसके पति की मौत हो चुकी है और उसके ससुराल वाले अब उसे रखने को तैयार नहीं हैं. उसने बताया कि वह अपने मायके भी गई थी लेकिन वहां भी उसके लिए दरवाजे बंद कर दिए गए. इसके बाद वह अपनी मासूम बेटी आडिया को लेकर बलांगीर चली आई.

बलांगीर के सागर पाड़ा में रहकर वह पड़ोसियों के घर काम करने लगी और बेटी के साथ जीवन गुजारने लगी. पड़ासियों ने बताया कि कुनी अक्‍सर बीमार रहती थी. पिछले कई दिनों से कुनी बीमार थी. इस दौरान कई बार पड़ोसियों ने कुनी की बेटी से उसका हालचाल जानना चाहा तो उसने बताया कि मां अभी सो रही है. सबको यही लगा कि कुनी बीमार है.

सोमवार की सुबह जब कुनी की बेटी आडिया ने अपनी मां के मुंह से कीड़े निकलने की बात पड़ोसियों को बताई तब उसकी मौत का पता चला. अपनी मां की मौत से अनजान बेटी तीन दिनों तक भूखे प्यासे अपनी मां के साथ रही और उसे लगा कि उसकी बीमार मां सो रही है.