ओडिशा में बीजू जनता दल के विधायक बिजय शंकर दास खुद की ही शादी में नहीं पहुंच पाए। विधायक ने एक महीने पहले ही अपनी प्रेमिका के साथ मिलकर इसके लिए आवेदन भी किया था। अब प्रेमिका की शिकायत पर विधायक के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज किया है। खबर है कि शुक्रवार को जगतसिंहपुर के सब-रजिस्ट्रार ऑफिस में तिरतोल निर्वाचन क्षेत्र के विधायक बिजय शंकर दास की शादी का रजिस्ट्रेशन होना था। प्रेमिका सोमालिका निर्धारित समय पर कार्यालय पहुंच गई थीं, लेकिन न तो विधायक और न ही उनके परिवार का कोई सदस्य वहां आया। करीब तीन घंटे इंतजार करने के बाद निराश सोमालिका को रजिस्ट्रार ऑफिस से जाना पड़ा।

यह भी पढ़ें : असम में बाढ़ से भयावह हालात : 55 की मौत, करीब 3 हजार गांव डूबे, 19 लाख लोग प्रभावित

युवती ने विधायक पर आरोप लगाया है कि वादा करने के बावजूद वह शुक्रवार को विवाह पंजीयक के कार्यालय में नहीं आए। इस संबंध में विधायक और उनके परिजनों  के खिलाफ शहर के सदर थाने में शिकायत दर्ज कराई गई। पीड़िता ने अपनी शिकायत में दावा किया कि वह 3 साल से दास के साथ रिश्ते में थी। विधायक ने उसके साथ धोखाधड़ी और उत्पीड़न किया है।  यह भी आरोप लगाया कि तिरतोल विधायक बिजय शंकर ने अपना वादा नहीं निभाया और उनके फोन कॉल का जवाब नहीं दे रहे हैं। साथ ही विधायक के रिश्तेदार और उनके परिवार पर भी युवती को धमकी देने का आरोप है। 

यह भी पढ़ें : Assam flood: PM मोदी ने CM सरमा से की बात, हरसंभव मदद का दिया आश्वासन

सोमलिका ने कहा कि हमने 17 मई को सब-रजिस्ट्रार कार्यालय में विवाह पंजीकरण के लिए आवेदन किया था। बिजय ने मुझसे वादा भी किया था, हम सब-रजिस्ट्रार कार्यालय में इस दिन कोर्ट मैरिज करेंगे। लेकिन उन्होंने अपना वादा नहीं निभाया। बिजय शंकर ने फोन पर स्थानीय मीडिया से बातचीत में अपने ऊपर लगे आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया। BJD MLA दास ने कहा, ''नियमों के अनुसार आवेदन करने के 90 दिनों के भीतर शादी का रजिस्ट्रेशन पूरा करवाना होता है। इसके लिए अभी भी हमारे पास 60 दिन बाकी हैं। मुझे आज शादी के रजिस्ट्रेशन के संबंध में किसी से कोई सूचना नहीं मिली है।