भारत देश में सस्पेंड भाजपा नेता नूपुर शर्मा के पैगंबर मोहम्मद पर दिए गए कथित अपमानजनक बयान के बाद अब इस्लामिक कट्टरपंथियों ने बवाल मचा दिया है और इसकी आग देश के कई इलाकों में दिन ब दिन बढ़ती जा रही है। लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि पैगंबर मोहम्मद की बेटी पर बनी फिल्म  "The Lady of Heaven" ने कई मुस्लिम देशों में फतवा जारी करवा दिया है।


यह भी पढ़ें- राहुल गांधी को ED के समन के विरोध में असम कांग्रेस नेता देवव्रत सैकिया गिरफ्तार


जी हां, पैगंबर मोहम्मद की बेटी पर बनी इस फिल्म ने मुस्लिमों की सारी पोल खोलकर रख दी है। जिससे कारण कई मुस्लिम देशों ने इस फिल्म पर बैन लागू कर दिया है लेकिन कुछ मुस्लिमों ने इसे सत बताते हुए फिल्म को सही बता रहे हैं। दूसरी ओर मुस्लिम समुदाय अपने प्रोफिट पैगंबर मोहम्मद को लेकर देश दुनिया में अलग ही आतंक मचा रहे हैं।

जानकारी दे दें कि हैरानी की बात ये है कि ये फिल्म मुस्लिम निर्माता-निर्देशकों ने ही बनाई है। फिर भी कट्टरपंथी इस फिल्म को इस्लाम का अपमान बताकर विरोध कर रहे हैं।


पैगंबर मोहम्मद के बेटी के जीवन पर बनी है फिल्म


'द लेडी ऑफ हेवन' (The Lady of Heaven) नाम की इस फिल्म की कहानी कुवैत के रहने वाले यासिर अल-हबीब ने लिखी है। यासिर अल-हबीब शिया मुसलमान हैं। उनकी यह फिल्म पैगंबर मोहम्मद की बेटी फातिमा के जीवन के ऊपर है। इस फिल्म में फातिमा की हत्या का चित्रण करते हुए उस घटना को दुनिया की पहली आतंकी वारदात बताया गया है।


हबीब की यह फिल्म 3 जून को ब्रिटेन के सिनेमाघरोंमें रिलीज हुई है। इसके बाद से ब्रिटेन के सिनेमाघरों के आगे प्रदर्शन, नारेबाजी, तोड़फोड़ और शियाओं को धमकी मिलने के मामले तेज हो गए हैं।



निर्माता-निर्देशकों के स्पष्टीकरण


फिल्म के निर्माता-निर्देशकों के स्पष्टीकरण के बावजूद मुस्लिम देशों में फिल्म The Lady of Heaven का जोरदार विरोध शुरू हो गया है। मोरक्को, मिस्र और पाकिस्तान में फिल्म को बैन करके फतवे जारी कर दिए हैं। ईरान हालांकि शिया देश है लेकिन वहां के मौलवियों ने भी पैगंबर के चित्रण पर आपत्ति जताते हुए फिल्म के निर्माता-निर्देशकों के साथ ही उसे देखने वाले दर्शकों के खिलाफ भी फतवे जारी किए हैं। इस फिल्म के खिलाफ हजारों की संख्या में कट्टरपंथी बाहर सड़कों पर उतर आए हैं और बिना फिल्म देखे ही उस पर बैन लगाने की मांग करने लगे हैं।