देश की सबसे बड़ी विद्युत उत्पादक कंपनी एनटीपीसी लिमिटेड के भागलपुर जिले के कहलगांव स्थित 2340 मेगावाट वाली कोयला आधारित बिजली संयंत्र में आज तकनीकी गड़बड़ियों के कारण पांच सौ मेगावाट वाली सातवीं इकाई बंद हो गई।


आधिकारिक सूत्रों ने यहां बताया कि संयंत्र के दूसरे चरण के पांच सौ मेगावाट क्षमता वाले सातवीं इकाई में अचानक तकनीकी गड़बडिय़ां उत्पन्न होने की वजह से इकाई से विद्युत का उत्पादन ठप हो गया है। जबकि दो-तीन दिन पूर्व से 210 मेगावाट वाली दूसरी इकाई वार्षिक रख रखाव कार्य (ओवररोङ्क्षलग) की वजह से बंद पड़ी है।


सूत्रों ने बताया कि मौजूदा समय में कहलगांव संयंत्र के कुल सात इकाइयों में से दो इकाईयों के बंद होने के कारण कुल 2340 मेगावाट के जगह पर करीब 1700 मेगावाट विद्युत का उत्पादन हो रहा है और यहां से इतनी ही बिजली की आपूर्ति लाभान्वित होने वाले प्रदेशों को की जा रही है। सूत्रों ने बताया कि इस संयंत्र के पांच सौ मेगावाट वाली बंद सातवीं इकाई में उत्पन्न तकनीकी गड़बडिय़ों को दूर करने का काम इंजीनियरो की टीम तेजी से कर रही है और शीघ्र ठीक करते हुए इसे चालू कर दिया जायेगा।