हाल ही में एक महिला के निर्विरोध सरपंच (sarpanch) चुने जाने पर बेटे ने गांव वालों के लिए ऐसा काम कर दिया जिसकी हर तरफ तारीफें हो रही हैं। यह मामला राजस्थान के बाड़मेर (Barmer) जिले का है। यहां नवनियुक्त बूढ़ातला सरपंच के परिवार ने अनूठी मिसाल पेश की है। दरअसल, परिवार ने खुद अपने एक करोड़ रूपये लगाकर ग्राम पंचायत भवन का निर्माण करवाया। हाल ही में इस पंचायत भवन का उद्घाटन किया गया। इसको लेकर कलेक्टर से लेकर विधायक तक ने इस पहल की सराहना की है।

एनआरआई (NRI) नवल किशोर गोदारा के अनुसार उनका बिजनेस भारत से बाहर चलता है। लेकिन जब गांव वालों उनकी मां को निर्विरोध सरपंच बनाया तो उनके कंधों पर यह जिम्मेदारी थी कि वो इस ग्राम पंचायत के लोगों के लिए कुछ विशेष करें। इसीलिए उन्होंने एक करोड़ की लागत से आधुनिक ग्राम पंचायत भवन का निर्माण करवा दिया।

नवल किशोर ने इसके अलावा ग्राम पंचायत के उन नागरिकों को अपना पैसा लगाकर चिरंजीवी योजना से भी जोड़ा, जिनका इन्श्योरेंस नहीं हो पाया था। कुल मिलाकर पूरी ग्राम पंचायत के लोग अब चिरंजीवी योजना से भी जुड़ गए हैं।

उपखंड अधिकारी महावीर सिंह जोधा ने नवल किशोर की तारीफ की और कहा कि बाड़मेर ही नहीं, बल्कि पूरे राज्य के लिए यह ग्राम पंचायत (gram panchayat) अपने आप में एक मिसाल होगी जहां पर सरपंच के परिवार की ओर से ग्राम पंचायत का आधुनिक भवन बनवाया गया, जिसमें कॉन्फ्रेंस हॉल, पटवारी और सरपंच के लिए अलग-अलग कमरे, गार्डन, टॉयलेट और चारों तरफ पौधारोपण सहित कई अन्य फैसिलिटी हैं।