गुवाहाटी। राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) से बाहर रखे गए लोगों के नाम शामिल करने तथा अशुद्धियों को ठीक करने के लिए आज से एनआरसी सेवा केंद्रो के जरिए दावा और आपति से जुड़े फॉर्म भरने की  प्रक्रिया शुरू हो गई है । 

मालूम हो कि एनआरसी का अद्यतन कार्य ठीक से नहीं होने के कारण शीर्ष अदालत द्वारा भारत के महापंजीयक शैलेश और एनआरसी के संयोजक प्रतीक हाजेला को कड़ी फटकार लगाई गई थी । राज्य भर में दावा और नाम शामिल नहीं होने के कारणों के बारे में एनआरसी की  ओर से स्पष्ट करने की प्रक्रिया तो शुरू हुई, लेकिन लोगों द्वारा पूछे गए सवालों का सही-सही जवाब एनआरसी के अधिकारी नहीं दे पा  रहे हैं । 

इसके कारण लोगों के मन में आज भी आशंका है कि इस प्रक्रिया के बाद भी उनका नाम एनआरसी में शामिल हो पाएगा या नहीं । सूत्रों के अनुसार राज्य भर में एनआरसी सेवा केंद्रो के जरिए लोगों को फॉर्म  दिया गया, जबकि अधिकांश केंद्रो पर फॉर्म नहीं पाए गए । कई एनआरसी सेवा केंद्र काफी विलंब से खुले । लोगों ने बताया कि नाम शामिल नहीं होने का कारण पूछा गया तो अधिकारियों ने इसके लिए जिला उपायुक्त की वेबसाइट काम नहीं करने का हवाला देकर जबाब को टाल दिया । 

साथ ही उन्होंने कहा कि आपके प्रश्नों का उत्तर आगामी 16 अगस्त को दिया जाएगा । मालूम को कि दावा व शिकायत फॉर्म आगामी 30 अगस्त से 28 सितंबर तक जमा किया जाएगा । इस बीच विभिन्न राज्यों से एनआरसी के लिए सत्यापान कागजात भेजने की खबर आ रही है ।