अरुणाचल प्रदेश में हाल में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव में पांच सीट हासिल करने वाली नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत पेमा खांडू सरकार को बिना शर्त समर्थन दिया है। एनपीपी विधायक दल के नेता मचू मिती ने यहां संवाददाताओं से कहा, अरुणाचल प्रदेश एनपीपी ने पेमा खांडू सरकार को बिना शर्त समर्थन दिया है और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कॉनराड के. संगमा के माध्यम से मुख्यमंत्री को इस बारे में जानकारी दी है।

भाजपा नीत पूर्वोत्तर लोकतांत्रिक गठबंधन के घटक के रूप में एनपीपी ने खांडू और उनकी पार्टी को राज्य में पूर्ण बहुमत प्राप्त करने पर बधाई दी। रोइंग सीट से एक बार फिर जीत हासिल करने वाले मिती ने एक प्रश्न के जवाब में कहा, हमें मंत्री पद की लालसा नहीं है। हम लोग बिना शर्त इस आधार पर समर्थन दे रहे हैं कि सरकार के जनकल्याणकारी योजनाओं को लेकर उठाये जाने वाले कदमों को पूरा किया जाना चाहिए।

इस बीच एनपीपी ने खोंसा पश्चिम से पार्टी विधायक रहे तिरोंग अबोह की हत्या की जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी से कराये जाने की मांग की। हाल में चुनाव में वह एक बार फिर से जीत हासिल की थी। तिरप जिले में कथित नागा उग्रवादियों के घात लगाकर 21 मई को किये गये हमले में अबोह के साथ 10 अन्य लोगों की मौत हो गयी थी। मिती ने कहा कि इस संबंध में एनपीपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की और कई मुद्दे उठाये, जिसमें तिरोंग अबोह की हत्या भी शामिल है। उन्होंने कहा कि गृह मंत्री ने आशावादी प्रतिक्रिया व्यक्त की। 

आपको बता दें कि पेमा खांडू ने बुधवार को अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। राज्यपाल बी.डी. मिश्रा ने खांडू और 11 अन्य मंत्रियों को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। पूर्व उपमुख्यमंत्री चॉवना मीन को फिर से उपमुख्यमंत्री बनाया गया है। राज्यपाल ने इसके साथ ही वांकी लोवांग, होनचुन नगांदम, कामलुंग मोसांग, आलो लिबांग, बामांग फेलिक्स, टुमके बागरा, मामा नाटुंग टेग टकी, टाबा टेडीर और नाकप नालो को मंत्री पद की शपथ दिलाई। इस अवसर पर असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल, त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब, मणिपुर के मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह, नागालैंड के मुख्यमंत्री नेफियू रियो और मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड संगमा सहित अन्य गणमान्य लोग मौजूद थे।