भारत में आजकल लगभग हर व्यक्ति डिजिटल पेमेंट कर रहा है।  खासतौर से लॉकडाउन के बाद से डिजिटल पेमेंट का चलन काफी हद तक बढ़ गया है।  लोगों ने लॉकडाउन और कोरोना के समय में काफी आर्थिक परेशानी का सामना किया है जिसके चलते लोन की डिमांड भी काफी बढ़ती दिखाई दी है।  

Paytm ने एक नई सर्विस लॉन्च की है जिसका नाम है इंस्टेंट पर्सनल लोन सर्विस।  कंपनी द्वारा इस सर्विस को आम लोगों तक पेटीएम की क्रेडिट सर्विस पहुंचाने के लिए पेश किया गया है।  कंपनी की इंस्टेंट पर्सनल लोन सर्विस का इस्तेमाल व्यक्ति वर्ष में कभी भी कर सकता है।  इसके लिए व्यक्ति छुट्टी वाले दिन भी अप्लाई कर सकता है। 

Paytm ने सर्विस लॉन्च के दौरान कहा, Paytm गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (NBFC) के लिए टेक्नोलॉजी और डिस्ट्रीब्यूशन पार्टनर है।  इससे उन्हें वेतनभोगी व्यक्तियों, छोटे व्यवसाय मालिकों और प्रोफेशनल्स तक अपनी लोन सेवा पहुंचाने में काफी मदद मिलेगी।  कंपनी द्वारा दी जा रही इस सर्विस के तहत NBFC और बैंकों की तरफ से लोन दिया जाएगा।  कंपनी द्वारा की गई इस पहल से छोटे शहर और कस्बों के व्यक्ति भी सशक्त बनेंगे जो बैंकिंग संस्थानों तक पहुंच नहीं सकते हैं। 

Paytm ने लोन एप्लीकेशन के लिए पूरी प्रक्रिया को डिजिटल कर दिया है।  ऐसे में बिना किसी फिजिकल डॉक्यूमेंट की जरूरत नहीं है।  यह सर्विस Paytm के टेक प्लेटफॉर्म पर बनाई गई है जो बैंकों और NBFC को 2 मिनट से कम समय में लोन एप्लीकेशन को पूरा करने में मदद करता है।  नई इंस्टैंट पर्सनल लोन योजना के तहत, Paytm 2 लाख रुपये तक का लोन वेतनभोगियों, छोटे व्यवसाय के मालिकों और प्रोफेशनल्स को उपलब्ध कराएगी। 

Paytm Lending के सीईओ भावेश गुप्ता ने कहा, हमारा मकसद इंस्टैंट पर्सनल लोन सर्विस को सेल्फ एंप्लॉइड, इंडिविजुअल्स और प्रोफेशनल्स के लिए आसान बनाना है जिन्हें तत्काल खर्चों का हिसाब करने के लिए पर्सनल लोग आसानी से मिल पाए।  उन्हें अपने सपने को पूरा करने में कोई बाधा नहीं आएगी।  हमारा उद्देश्य भारतीय युवाओं और प्रोफेशनल्स के लिए आत्मनिर्भर बनने में उनकी मदद करना है। 

इसके अलावा, Paytm ने यह भी कहा है कि यह नई लोन सर्विस 18 से 36 महीने की फ्लैक्सिबल रीपेमेंट के साथ आती है।  टेन्योर के हिसाब से ईएमआई निर्धारित की जाती है।  योग्य ग्राहक इस सेवा का इस्तेमाल Paytm ऐप में मौजूद फाइनेंशियल सर्विसेज के तहत पर्सनल लोन टैब के जरिए कर सकते हैं। यूजर्स अपना लोन अकाउंट सीधे तौर पर Paytm ऐप के जरिए मैनेज कर सकते हैं। कंपनी ने इस सर्विस को आसान बनाने के लिए अलग-अलग NBFC और बैंकों के साथ साझेदारी की है।  इस सर्विस के बीटा फेज के दौरान Paytm ने 400 से ज्यादा चुनिंदा ग्राहकों को पर्सनल लोन वितरित किया है।  इस प्लेटफॉर्म के जरिए कंपनी इस वित्तीय वर्ष में 1 मिलियन यूजर्स तक पहुंचने का लक्ष्य बना रही है। 

हाल ही में कंपनी ने अपनी Paytm पोस्टपेड सर्विस का विस्तार किया था. अब इस सर्विस के जरिए लोग, किराना और अन्य खुदरा जगहों पर भुगतान कर सकते हैं. इसके अतिरिक्त, यह इस सर्विस का विस्तार विभिन्न बिल भुगतान सुविधाओं, पेटीएम मॉल पर खरीदारी, डोमिनोज, टाटा स्काई, पेपरफ्री, हंगरबॉक्स, पतंजलि, स्पेंसर जैसे इंटरनेट ऐप्स पर ऑनलाइन भुगतानों के लिए भी किया गया है. कंपनी Paytm पोस्टपेड क्रेडिट लिमिट भी उपलब्ध कराती है. यह तीन स्लैब में आता है. इसका बेस स्लैब 20,000 रुपये तक की सीमा के साथ आता है. इसके साथ मासिक बिल में सुविधा शुल्क भी जोड़ा जाएगा. वहीं, एक डिलाइट और एलीट स्लैब भी है जिसकी क्रेडिट सीमा 20,000 से 1,00,000 रुपये तक है. इसके लिए कोई सुविधा शुल्क नहीं देना होता है.