अब आप अपने गांव या शहर से बाहर होने पर भी वोट डाल सकेंगे। अभी तक कई मतदाता अपने गांव या शहर से बाहर रहने के कारण वोट डालने नहीं जा पाते, लेकिन अब चुनाव आयोग ने नई व्यवस्था की बड़ी तैयारी कर ली है। इसके अब आप कहीं से भी अपना वोट डाल सकेंगे।

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा है कि कि चुनाव आयोग इस समस्या को हल करने के करीब था, जिसमें प्रवासी लोग वोट देना चाहते थे, लेकिन मतदान के दिन अपने मतदान केंद्र पर नहीं पहुंच पाए। अरोड़ा ने कहा कि चुनाव आयोग भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, चेन्नई के साथ मिलकर एक ब्लॉकचेन प्रणाली विकसित कर रहा है, जो देश के किसी भी हिस्से में पंजीकृत मतदाताओं को शहरों में जाने के बाद भी अपने मताधिकार का प्रयोग करने की अनुमति देगा।

  

भारत में 450 मिल‍ियन से अधिक प्रवासी थे - इनमें वे लोग शामिल हैं, जो नौकरी की तलाश में, पढ़ाई के लिए या शादी होने के चलते अपने शहरों से चले गए। क्‍योंकि कई लोग केवल अस्थायी रूप से आगे बढ़ते हैं, इसलिए उनके लिए नई जगह पर जहां वे रह रहे हैं, मतदाताओं के रूप में पंजीकरण की परेशानी का होना जायज है। 

उन्होंने कहा कि उनके कार्यकाल में ब्लॉकचेन प्रणाली लागू की जाएगी। उन्होंने आधार के साथ वोटर आईडी लिंक करने का प्रस्‍ताव भी दिया गया जो कानून मंत्रालय के पास लंबित है। जिस पर 18 फरवरी मंत्रालय के साथ चुनाव सुधारों पर चुनाव आयोग विचार-विमर्श करेगा।  

ईवीएम को लेकर अरोड़ा ने कहा कि जब मशीनें किसी भी अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों की तरह "खराबी" हो सकती हैं, तो उनके साथ "छेड़छाड़" नहीं की जा सकती है। बैलेट पेपर पर वापस जाने की संभावना को खारिज करते हुए कहा कि EC रचनात्मक आलोचना का सामना खुल के कर रहा हैं, तो लोगों को इसकी आलोचना करने से बचना चाहिए।

अब हम twitter पर भी उपलब्ध हैं। ताजा एवं बेहतरीन खबरों के लिए Follow करें हमारा पेज : https://twitter.com/dailynews360