अब ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों को विदेश जाने का वीजा नहीं दिया जाएगा। जी हां, पंजाब की लुधियाना पुलिस ने ट्रैफिक नियमों के प्रति लोगों को जागरूक बनाने के लिए खास रणनीति बनाई है। कनाडा और ऑस्ट्रेलिया के लिए लॉन्ग टर्म वीजा आवेदन करने वालों के ट्रैफिक नियम तोड़ने की डिटेल्स अब दूतावासों द्वारा मांगी जा रही है। इसके बाद लुधियाना पुलिस ने ट्रैफिक नियम तोड़नेवालों को मुस्तैद करने के लिए इस बारे में एक कैंपेन चलाया है। 

लुधियाना पुलिस कमिश्नर के मुताबिक हर महीने पिछले 1 साल से पुलिस के पास वीजा आवेदकों के ट्रैफिक नियम उल्लंघन रेकॉर्ड को लेकर फोन आते रहते हैं। उन्होंने बताया कि डिजिटल फॉर्मेट में हमारे पास डिटेल सुरक्षित रहती है। दूतावास से इसे शेयर करना हमारे लिए आसान है।

पुलिस कमिश्नर ने बताया कि वीजा आवेदनों के बहाने ट्रैफिक नियम पालन कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हमारे पास डिजिटल फॉर्मेट में ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करनेवालों की डिटेल रहती है। इसलिए प्रशासन से ऐसी डिटेल मांगी जाती है तो हम आसानी से शेयर कर सकते हैं। लुधियाना से बड़ी संख्या में लोग ऑस्ट्रेलिया और कनाडा के लिए वीजा अप्लाइ करते हैं। अब हम इस टूल को शहर की ट्रैफिक व्यवस्था बहाल करने के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं।

लुधियाना को मर्सेडीज का शहर कहा जाता है और सड़क सुरक्षा को लेकर शहर का रेकॉर्ड बहुत प्रभावी नहीं है। 2018 में शहर में 328 लोगों की मौत लुधियाना में 477 सड़क हादसे में हुई थी। लुधियाना पुलिस कमिश्नर ने कहा कि शहर से जानेवाली हाइवे के कारण सड़क हादसों में मौत की संख्या अधिक है। मौत का यह आंकड़ा कम हो इसलिए हमने शहर में ट्रैफिक नियमों की जागरूकता के लिए अभियान चलाया जा रहा है।

विशेषज्ञों के मुताबिक अगर लुधियाना मॉडल सफल रहा तो इसे दूसरे शहर भी अपना सकते हैं। पंजाब सरकार में ट्रैफिक अडवाइजर नवदीप असीजा ने कहा हैकि सड़क हादसे में होनेवाली मौत को रोकने के लिए उठाया गया यह कदम स्वागत योग्य है। पंजाब से बड़ी संख्या में लोग वीजा के लिए आवेदन करते हैं। ऐसी परिस्थिति में इन कैंपेन का सकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है।

अब हम twitter पर भी उपलब्ध हैं। ताजा एवं बेहतरीन खबरों के लिए Follow करें हमारा पेज : https://twitter.com/dailynews360