मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने मंगलवार को दावा किया कि नकारात्मक तत्व राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) के अद्यतन की जारी प्रक्रिया को बाधित करने की कोशिश कर रहे हैं और उनकी सरकार इस प्रकार की हर कोशिश नाकाम करने के लिए प्रतिबद्ध है। सोनोवाल ने मीडिया से कहा कि कुछ नकारात्मक तत्व एनआरसी अद्यतन की सुचारू प्रक्रिया को बाधित करने की कोशिश कर रहे हैं। राज्य सरकार स्थिति से वाकिफ है।
उन्होंने कहा कि कुछ समूह एनआरसी के नाम पर असम में अशांति पैदा करने की कोशिश नाकाम करने के लिए प्रतिबद्ध है। सोनोवाल इस समय दिल्ली में हैं और उन्होंने राज्य में मौजूदा सुरक्षा हालात की समीक्षा के लिए और 21 जुलाई को अंतिम एनआरसी के प्रकाशन के बाद कानून-व्यवस्था बनाए रखने की तैयारियों के लिए गृह मंत्री राजनाथ सिंह और केंद्रीय गृह मंत्रालय के शीर्ष अधिकारियों से मुलाकात की थी।
 सोनोवाल ने कहा कि एनआरसी के प्रकाशन  के लिए राज्य सरकार और केंद्र सरकार पर्याप्त कदम उठाएंगी। मैं लोगों से उसी प्रकार सहयोग की अपील करता हूं, जो उन्होंने पिछले साल मसौदे के प्रकाशन के दौरान किया था। मुख्यमंत्री ने कहा कि एनआरसी के अद्यतन में सभी प्रमाणिक भारतीय नागरिकों की समस्याओं को दूर किया जाएगा। उन्होंने कहा कि किसी को घबराने की आवश्यकता नहीं है।

किसी भी वास्तविक भारतीय को परेशान नहीं किया जाएगा। सोनोवाल ने कहा कि हिंसा में शामिल होने या आतंकवादियों की मदद करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। राज्य में लोकसभा चुनाव के लिए मतदान अत्यंत शांति से हुआ। रिकॉर्ड 81.52 प्रतिशत मतदाताओं ने मतदान किया।