17वीं लोकसभा चुनाव में बीजेपी को शानदार जीत मिली है। लेकिन वह क्रिश्चियन बहुल राज्य मिजोरम में बेहतर नहीं कर पाई। अब पार्टी की नजर इस सूबे में भी कमल खिलाने पर है। यही वजह है कि बीजेपी ने यहां क्रिश्चियन मिशनरी सेल की स्थापना की है और लाल हरीथेरेंगा छांगटे को इसका प्रमुख बनाया है।


बता दें कि लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने छांगटे को उम्मीदवार बनने का ऑफर दिया था, लेकिन वह निर्दलीय मैदान में उतरे और चुनाव हार गए थे। 12 जुलाई को वह कई शर्तों के साथ बीजेपी में शामिल हुए थे, इनमें क्रिश्चियन मिशनरी सेल बनाए जाने की भी मिजोरम में वर्ष 2018 तक बीजेपी एक भी विधानसभा सीट पर भी जीत दर्ज नहीं कर पाई थी।


2018 में मिजोरम राज्य बनने के बाद पहली बार बीजेपी ने विधानसभा में खाता खोला था। तब डॉ. बीडी चकमा ने जीत दर्ज की थी। कांग्रेस के शासनकाल में चकमा मंत्री भी रह चुके हैं।

पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जॉन वी लूना ने माना कि इस सेल की स्थापना के बाद से बीजेपी सूबे में और मजबूत होगी। उन्होंने कहा, 'छांगटे को इसका प्रभारी बनाया गया है। इसके दरवाजे सभी के लिए खुले हैं और लोग बेहिचक हम तक अपनी शिकायतें पहुंचा पाएंगे। हमारा उद्देश्य यही है कि हम सूबे के सभी लोगों के काम आएं और प्रदेश में स्थित सभी चर्चों से हमारा जुड़ाव बना रहे।'
लूना ने कहा कि इस सेल के जरिए हम क्रिश्चियन मिशनरियों के साथ भी जुड़ेंगे। इसके तहत सभी क्रिश्चियन मिशनरियों का डेटा (नाम, पता, फोन नंबर, ई- मेल आदि) हमारे पास मौजूद होगा ताकि किसी भी स्थिति में हम उनकी मदद के लिए तैयर रहें।