बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आरटीपीसीआर जांच करने के लिए टेस्टिंग वैन को सर्विस में ले लिया है। नीतीश कुमार ने कहा कि चलंत टेस्टिंग वैन से पटना और आसपास के जिलों में आरटीपीसीआर जांच की जाएगी। एक वैन से प्रतिदिन एक हजार लोगों की जांच की जा सकती है। साथ ही 24 घंटे के अंदर लोगों को रिपोर्ट भी मिल सकेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में टेस्टिंग की संख्या और बढ़ाई जा रही है। अधिक से अधिक लोगों का टीकाकरण कराने को लेकर सभी स्तर पर काम हो रहा है। सभी लोग पूरी एकजुटता के साथ कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए हर जरूरी कदम उठा रहे हैं। कोरोना संक्रमण के खिलाफ लोगों की मदद के लिए चिकित्सकों, चिकित्साकर्मियों और अन्य सभी लोगों को सीएम नीतीश कुमार ने धन्यवाद दिया।

शनिवार को ही मुख्यमंत्री ने कोरोना वार रूम का वर्चुअल तरीके से जायजा लिया। स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने वार रूम की गतिविधियों की विस्तृत जानकारी दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि एक-एक चीज की यहां जानकारी उपलब्ध कराई जा रही है। सभी चीजों की सूचना समेकित रूप से उपलब्ध है, जिसके आधार पर किन जगहों पर किन चीजों की जरूरत है उसकी उपलब्धता और समाधान को लेकर भी जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं। यह अच्छी बात है। उन्होंने कहा कि सभी लोगों को कोरोना के प्रति सचेत और सजग रहना है।