नेपाल ने चीन की शह पर एकबार फिर से चाल चली और कहा है कि यहां आने वाले भारतीयों को आईकार्ड दिखाना होगा। इसके पीछे कोरोना संकट को वजह बताया गया है। नेपाल सरकार द्वारा लगातार ऐसे फैसले लिए जा रहे हैं जिससे भारत और नेपाल के रिश्तों में खटास बढ़ती चली जा रही है. नेपाल सरकार का ताजा फैसला चौंकाने वाला है। नेपाल के गृह मंत्री राम बहादुर थापा ने ये बात कही है।

उन्होंने संसदीय पैनल को बताया कि नेपाल अब इन आंकड़ों के जरिए कोविड संकट ने निपटने के लिए बेहतर योजना बना सकेगा। इसके लिए डेटा संग्रह का काम चल रहा है। सरकार इसके लिए एक ऐसी प्रणाली विकसित करेगी जो परमानेंट काम कर सकेै थापा ने यह जानकारी नेपाली संसद के राज्य प्रबंधन और सुशासन समिति को दी।
मंत्री ने कहा कि नेपाल पहचान पत्र और पंजीकरण प्रणाली को लागू करेगा और लोगों के मूवमेंट और महामारी के बेहतर प्रबंधन के लिए रिकॉर्ड रखने की प्रक्रिया को औपचारिक बनाने की कोशिश करेगा। हाल ही में नेपाल के प्रधानमंत्री के. पी. शर्मा ओली ने देश में कोरोना संक्रमण के लिए भारत को जिम्मेदार ठहराया था।