प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज दोपहर 12:30 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए उज्ज्वला योजना 2.0 की शुरुआत करेंगे। मोदी सरकार ने आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए रसोई गैस की इस सुविधा की शुरुआत की है। कार्यक्रम के दौरान पीएम मोदी उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों से बात करेंगे और पूरे देश को संबोधित करेंगे। बता दें कि उज्ज्वला योजना के तहत महिलाओं को मुफ्त गैस सिलेंडर कनेक्शन दिया जाता है।

साल 2016 में जब उज्ज्वला 1.0 लॉन्च की गई थी तब गरीबी रेखा के नीचे आने वाली (BPL) 5 करोड़ महिलाओं को एलपीजी कनेक्शन देने का टारगेट तय किया गया था। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत सरकार गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों के लिए घरेलू रसोई गेस यानी एलपीजी कनेक्शन मुहैया करती है। पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के सहयोग से यह योजना चलाई जा रही है।

उज्ज्वला 2.0 के तहत लाभार्थियों को जमा मुक्त एलपीजी कनेक्शन के साथ साथ पहला रिफिल और हॉटप्लेट निःशुल्क दिया जाएगा। साथ ही, इसमें रजिस्ट्रेशन के लिए न्यूनतम कागजी कार्रवाई की जरूरत होगी।

इसके अलावा बीपीएल परिवारों को एक एलपीजी कनेक्शन के लिए 1600 रुपये की वित्तीय सहायता भी दी जाती है। हालांकि लाभार्थियों को चूल्हा खुद खरीदना पड़ता है। योजना के अनुसार, लाभार्थियों को 14.2 किलो का एलजीपी सिलेंडर दिया जाता है। इसकी लागत करीब 3200 रुपये होती है। इस पर 1600 रुपये सब्सिडी मिलती है जबकि 1600 रुपये OMCs एडवांस के रूप में मिलते हैं।

उज्ज्वला योजना के तहत मुफ्त गैस सिलेंडर कनेक्शन पाने के लिए महिला की उम्र 18 साल से अधिक होना अनिवार्य है। साथ ही उनके पास बैंक खाता और बीपीएल कार्ड होना चाहिए।