दिल्ली में ड्राइविंग टेस्ट देने वाले चालकों के लिए खुशखबरी अच्छी खबर है। दिल्ली सरकार ने ड्राइविंग टेस्ट में एक बड़ा बदलाव करने का फैसला किया है। इस फैसले के चलते अब टेस्ट पास करना आसान हो जाएगा। PTI की खबर के मुताबिक, दिल्ली सरकार ने शहर के विभिन्न ऑटोमेटेड ड्राइविंग ट्रैक में बदलाव करने का आदेश दिया है। ऐसा इसलिए किया जा रहा है, क्योंकि बड़ी संख्या में लोगों से ड्राइविंग टेस्ट पास करना मुश्किल हो रहा है। इन बदलावों का सुझाव ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट द्वारा गठित एक कमेटी ने दिया था और इन्हें 8 अगस्त से लागू किया जाएगा। 

ये भी पढ़ेंः अगर आप भी टैटू बनवाने के है शौकीन तो पढ़ ले ये खबर , वाराणसी में दर्जनों युवा हुए एचआईवी पॉजिटिव, मचा हड़कंप

ये बदलाव इसलिए भी जरूरी हैं क्योंकि उम्मीदवारों के ड्राइविंग टेस्ट में फेल होने के चलते पेंडेंसी भी बढ़ रही थी। एक अधिकारी ने कहा, "जिन चीजों का ड्राइविंग से कोई लेना-देना नहीं था, उनके कारण लोगों के ड्राइविंग टेस्ट में असफल होने के मामले बढ़ रहे थे।" सबसे बड़ी समस्या इस ट्रैक का सबसे आखिरी सर्किल था, जिसकी चौड़ाई काफी कम थी। यह बाकी दो सर्किल से छोटा था, जिसके चलते कई बार दोपहिया वाहन चालकों को पैर जमीन पर रखने पड़ते थे। ऐसे में वह टेस्ट पास नहीं कर पाते थे। 

आमतौर पर जब लोग अपने ड्राइविंग टेस्ट में फेल हो जाते हैं, तो उन्हें अगले सप्ताह में एक नई तारीख मिल जाती है, लेकिन बढ़ते मामलों के कारण, पेंडेंसी भी बढ़ रही थी, जिससे नई तारीखों में देरी हो रही थी। सरकार ने अब आदेश दिया है कि आखिरी सर्कल की चौड़ाई भी बाकी दोनों सर्कल के जितनी ही की जाए और चालकों को भी अपने पैरों का उपयोग करने की अनुमति होगी। 

ये भी पढ़ेंः आजादी का अमृत महोत्सवः ISRO ने 'आजादीसैट' लॉन्च कर बनाया रिकॉर्ड, स्पेस में लहराएगा तिरंगा

इसके अलावा एक बदलाव यह भी होगा कि उम्मीदवारों को पहले से सीट बेल्ट पहनने के बारे में सूचित किया जाएगा। अधिकारी ने कहा, "कई बार, उम्मीदवारों ने ड्राइविंग टेस्ट देते समय सीट बेल्ट नहीं पहनी और वे असफल हो गए। अब यह अनिवार्य कर दिया गया है कि उन्हें पहले से सूचित करना होगा कि उन्हें परीक्षा देते समय सीट बेल्ट पहननी होगा।"