कोरोना वायरस के खिलाफ टीकाकरण के दौरान अब कोविशील्ड वैक्सीन के लिए 12 सप्ताह बाद का ही अपॉइंटमेंट मिलेगा। केंद्र ने रविवार को कहा कि कोविशील्ड की दूसरी डोज के लिए ऑनलाइन अपॉइंटमेंट 84 दिनों के बाद ही दिया जाएगा। 

इसके साथ ही सरकार ने कहा कि जिन लोगों ने कोविशील्ड की दूसरी खुराक के लिए पहले से अपना अपॉइंटमेंट बुक कराया हुआ है, उस पर इसका कोई असर नहीं होगा। हालांकि, वैसे लोग जो पहले से तय अपॉइंटमेंट में बदलाव कर उसे 84 दिनों के बाद करना चाहते हैं, वे ऐसा कर सकते हैं। 

कोविशील्ड वैक्सीन की दो डोज के बीच बढ़े समय के मद्देनजर कोविन पोर्टल में भी बदलाव किया जा रहा है।  केंद्र ने कहा, कोविन डिजिटल पोर्टल में जरूरी बदलाव किया जा रहा है, ताकि कोविशील्ड के दो डोज के बीच 12 से 16 सप्ताह के अंतर को वहां दिखाया जा  सके।  कोविशील्ड की दूसरी डोज के लिए पहले से बुक ऑनलाइन अपॉइंटमेंट मान्य रहेगा और उसे कोविन द्वारा रद्द नहीं किया जाएगा। 

पिछले कुछ महीनों में दूसरी बार ऐसा हुआ है जब कोविशील्ड टीके की दो डोज के बीच का समयांतर बढ़ाया गया है।  केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मार्च में राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों से कहा था कि वह दो डोज के बीच समयांतर को 28 दिनों से बढ़ाकर 6 से 8 सप्ताह तक कर दें। 

गौरतलब है कि भारत सरकार ने एक सरकारी पैनल की सलाह पर कोविशील्ड टीके की दो डोज लगवाने के बीच के समय को 6-8 सप्ताह से बढ़ाकर 12-16 सप्ताह करने का फैसला लिया है।  केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बीते 13 मई को इस आशय की घोषणा करते हुए कहा था कि यह विज्ञान आधारित फैसला है और इस विश्वास के साथ लिया गया है कि इससे कोई अतिरिक्त खतरा नहीं होगा। 

 

हालांकि मंत्रालय ने कहा था, लेकिन नेशनल टेक्नीकल एडवाइजरी ग्रुप ऑन इम्युनाइजेशन (एनटीएजीआई) (टीकाकरण पर राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह) ने कोवैक्सीन के दो डोज के समयांतर (पहला और दूसरा डोज लगने के बीच का समय) में बदलाव का कोई सुझाव नहीं दिया है। मंत्रालय ने कहा था, वास्तविक समय के साक्ष्यों, विशेष रूप से ब्रिटेन से प्राप्त, के आधार पर कोविड-19 कार्य समूह कोविशील्ड टीके के दो डोज के बीच समयांतर को बढ़ाकर 12 से 16 सप्ताह करने पर राजी हो गया है।  कोवैक्सीन के दो डोज के बीच समयांतर में बदलाव की कोई सिफारिश नहीं की गई है।