पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस के संक्रमण का अब तक एक भी मामला सामने नहीं आया है। पड़ोसी देश चीन से शुरू हुए इस जानलेवा संक्रमण के एक अन्य पड़ोसी देश भूटान और देश के कुछ हिस्सों में फैलाव को देखते हुए राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शुक्रवार को एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की और लोगों से इससे भयभीत नहीं होने की अपील करते हुए कहा कि अभी तक कोरोना वायरस का एक भी मामला सामने नहीं आया है।

संयोग से पड़ोसी राज्य सिक्किम ने कोरोना की आशंका को देखते हुए विदेशी पर्यटकों के लिए इनर लाइन परमिट (आईएलपी) जारी करने को स्थगित कर दिया है तथा भूटान और अन्य प्रभावित स्थानों से आने वाले यात्रियों के लिए अपना दरवाजा बंद कर दिया है। भूटान में आज ही कोरोना वायरस के मामले में संक्रमण की पुष्टि हुई है। एक अमेरिकी पर्यटक में कोरोना संक्रमण की पुष्टि होने के बाद इस देश ने अगले दो सप्ताह तक विदेशी पर्यटकों के आने पर रोक लगा दी है।


बनर्जी ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों और अन्य के साथ यहां नाबाना में बैठक में कहा कि कोरोना को लेकर सभी जिलाधिकारियों को सतर्क कर दिया गया है और किसी भी मामले में तुरंत कार्रवाई के लिए त्वरित प्रतिक्रिया टीम बनायी गयी है।

तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ने कहा कि राज्य में कोरोना वायरस का कोई मामला नहीं सामने आया है। लेकिन नौ लोगों पर इस वायरस से संक्रमण की आशंका थी जिन्हें बेलियाघाटा आईडी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उन सभी पर लगातार निगरानी रखी जा रही है। गौरतलब है कि विश्व के 70 से अधिक देशों में जानलेवा कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के कारण अब तक चीन में 3,282 लोगों की मौत हो गई है। सबसे अधिक मौत एवं संक्रमित लोग चीन में ही हैं।