बंगाल की खाड़ी (Bay of Bengal) में अगले 24 घंटे के दौरान 40 से 50 किमी प्रति घंटे की गति से लेकर 60 किमी प्रति घंटे की गति तक और पूर्व मध्य अरब सागर में 230-240 किमी प्रति घंटे की गति से चलने वाली तेज हवाओं के 265 किमी प्रति घंटे की गति तक चलने के आसार हैं। पूर्वी मध्य अरब सागर तेज हवा चलने के कारण मछुआरों को अगले 24 घंटों के दौरान समुद्र में न जाने की सलाह (Warning to fishermen) दी गई है। विदर्भ, तेलंगाना, तमिलनाडु, पुडुचेरी, कराईकल, केरल और माहे में विभिन्न स्थानों पर तेज बारिश के आसार है। 

तटीय कर्नाटक और केरल में पूर्वोत्तर मानसून सक्रिय है जबकि तमिलनाडु में यह कमजोर रहा। विदर्भ, छत्तीसगढ़, ओडिशा और मराठवाड़ा में अलग-अलग स्थानों पर गरज के साथ बारिश (weather Report) होने के आसार हैं। नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, ओडिशा, पश्चिम उत्तरप्रदेश, हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली, तमिलनाडु, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक और साथ ही सौराष्ट्र और विदर्भ के कुछ हिस्सों में दिन का तापमान सामान्य से कम था। उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, पूर्वी उत्तर प्रदेश, पूर्वी राजस्थान, गुजरात, कोंकण और गोवा, मराठवाड़ा, छत्तीसगढ़, तटीय और उत्तर आंतरिक कर्नाटक के साथ-साथ पश्चिम बंगाल गंगेय, मध्यप्रदेश और मध्य महाराष्ट्र के शेष हिस्सों में भी दिन का तापमान सामान्य से कम रहा। 

अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, पश्चिम बंगाल के गंगेय, झारखंड, बिहार, मध्य प्रदेश, मध्य प्रदेश, विदर्भ के कुछ हिस्सों में दिन का तापमान सामान्य से कम दर्ज किया गया  ( weather Report) और ओडिशा के कुछ हिस्सों में तापमान सामान्य से कम दर्ज किया गया। पश्चिम राजस्थान के बाड़मेर में अधिकतम तापमान 36.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो देश के मैदानी इलाकों में सबसे अधिक था। ओडिशा, झारखंड, पश्चिम उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, गुजरात क्षेत्र, मराठवाड़ा, विदर्भ, छत्तीसगढ़, तटीय आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, रायलसीमा और तमिलनाडु के कुछ हिस्सों में रात का तापमान सामान्य से अधिक रहा और मध्यप्रदेश के कुछ हिस्सों में भी तापमान सामान्य से अधिक रहा। 

नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, पश्चिम राजस्थान, सौराष्ट्र और कच्छ, मध्य प्रदेश के शेष हिस्सों के साथ-साथ मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में रात का तापमान सामान्य से अधिक था। जम्मू और कश्मीर के कुछ हिस्सों में रात का तापमान सामान्य से कम था और असम, मेघालय और पूर्वी राजस्थान के कुछ हिस्सों में भी सामान्य से कम था। पूर्वी राजस्थान के भीलवाड़ा और ओडिशा के झारसुगुड़ा में सबसे कम न्यूनतम तापमान 13.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो मैदानी इलाकों में सबसे कम था। कोंकण और गोवा, केरल, माहे, तेलंगाना, रायलसीमा, छत्तीसगढ़, विदर्भ, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा में विभिन्न स्थानों पर गरज के साथ छींटे पड़े। 

अरुणाचल प्रदेश, विदर्भ, तटीय और उत्तर आंतरिक कर्नाटक, लक्षद्वीप, असम, मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, कोंकण और गोवा, मध्य प्रदेश, मराठवाड़ा और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक में कई स्थानों पर बारिश या गरज के साथ छिटें पड़ी। पश्चिम मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, तटीय आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, रायलसीमा, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, उप-हिमालयी और गंगीय पश्चिम बंगाल, सिक्किम, ओडिशा, झारखंड, पूर्वी मध्य प्रदेश, गुजरात क्षेत्र, सौराष्ट्र और कच्छ तथा तमिलनाडु में अलग-अलग स्थानों पर बारिश या गरज के साथ छींटे पड़े। बिहार में मौसम शुष्क रहा।