वनवासी कल्याण आश्रम हिसार की ओर से मिलेनियम पैलेस में पूर्वोत्तर सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित हुआ। जिसमें नागालैंड, असम, मणिपुर, मिजोरम व त्रिपुरा से आए युवाओं ने लोक नृत्य प्रस्तुत कर अपनी संस्कृति से रूबरू कराया। इस कार्यक्रम का मकदस था कि देश के अन्य हिसों के लोग पूर्वोत्तर के छात्रों और स्थानीय लोगों को अपना समझें ना कि नेपाली।


इस दौरान असम का बीहू, नागा लैंड का नागा डांस, मणिपुर का लाइमाजगई, माईवी डांस, मिजोरम का प्रसिद्ध बंबू डांस प्रस्तुत किया गया। युवाओं ने सांस्कृतिक नृत्यों की महत्ता भी बताई। मुख्य वक्ताओं ने अपने उद्बोधन में वनवासी कल्याण आश्रम के कार्य और जनजातीय लोगों को सामाजिक रूप से अधिकार देने के बारे में बताया।


इस दौरान मुख्य वक्ता कृपा प्रसाद सिंह ने कहा कि पूर्वोत्तर के रहने वाले लोग हमारे भाई हैं। संगठन इस ओर सालों से सेवा कार्य कर रहा है। जिसमें ट्राइबल युवाओं की शिक्षा, सांस्कृतिक विकास और आदिवासियों को मुख्य धारा से जोडऩा प्रमुख कार्य है।


कार्यक्रम की अध्यक्षता डॉ. कमल गुप्ता ने की। मुख्य वक्ता कृपा प्रसाद सिंह, प्रांतीय उपाध्यक्ष रामबाबू अग्रवाल, मुख्य अतिथि अक्षय मलिक, ओम प्रकाश बिन्दल व वेद प्रकाश सलेमगढिय़ा रहे। संगठन के जिलाध्यक्ष सीए रामनिवास अग्रवाल व जिला मंत्री डॉ. नरेश राखा ने कार्यक्रम का संचालन किया।